पानी का पैसा किससे वसूलेगा बीएमसी     मंत्रालय में बन रहे आधार कार्ड     विभाग गठन के एक वर्ष बाद भी नहीं मिला स्टाफ :घुमक्कड़ विभाग में कर्मचारियों का अभाव     विभाग गठन के एक वर्ष बाद भी नहीं मिला स्टाफ :घुमक्कड़ विभाग में कर्मचारियों का अभाव     दुबारा टेंडर पर देना होगी केवल प्रोसेसिंग फीस     राज्य सरकार की पहल से महिलाओं में बढ़ेगा आत्मविश्वास: महाजन     भांडेर में सपा का कार्यकर्ता सम्मेलन:खोई जमीन हासिल करने की कवायद     पार्टी के बड़े नेताओं ने संभाला मोर्चा:राघौगढ़ फतह करने भाजपा ने लगाई पूरी ताकत     मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव देंगे प्रशासनिक कामकाज को रफ्तार      24 मीटर चौड़ी सड़क पर बन सकेंगे 30 मीटर ऊंचे भवन    ताजा खबरो के लिये पढ्ते रहें - dainiksandhyaprakash.com
 
 
  कुछ और खबरें

शहर में शीतलहर

विभिन्न अंचलों में जनजीवन प्रभावित
ग्वालियर, रीवा और बुंदेलखंड सहित प्रदेश के अन्य हिस्सों में तेज सर्दी से जनजीवन प्रभावित हुआ है। छतरपुर जिले का नौगांव जहां बीती रात न्यूनतम तापमान .8 डिग्री रिकार्ड किया गया वहां खेतों और पत्तियों पर ओस जम गई है। धूप निस्तेज हो चुकी है, ठंड से बचने के लिए लोग अलाव का सहारा ले रहे हैं। सुबह और शाम को सूरज ढलने के पूर्व ही सड़कों पर सन्नाटा पसर जाता है। तेज सर्दी से फसलों पर खतरा मंडरा रहा है।

नगर प्रतिनिधि. भोपाल
प्रदेश में सर्दी शबाव पर है। तापमान तेजी से नीचे आ रहा है। हवाओं में चुभन है तो धूप से गर्माहट काफूर हो गई है। राजधानी का न्यूनतम तापमान 5.2 डिग्री दर्ज किया गया। ग्वालियर, बुंदेलखंड निमाड़ और रीवा क्षेत्र में भी सर्दी से जनजीवन प्रभावित हो रहा है। बीती रात प्रदेश में सर्वाधिक कम तापमान छतरपुर जिले के नौगांव में 0.8 डिग्री दर्ज किया गया।
नए साल के पहले दिन राजधानी का न्यूनतम तापमान औसत से ज्यादा था लेकिन तीन दिनों के अंदर 5 डिग्री की गिरावट आई और आज न्यूनतम तापमान 5.2 डिग्री दर्ज किया गया। बीती रात राजधानी में इस मौसम की सबसे सर्द रात रही। पिछले साल राजधानी में सबसे कम तापमान 4.9 डिग्री 8 जनवरी को रिकार्ड किया गया था, आधा डिग्री की कमी होने पर सर्दी का पिछले साल का रिकार्ड टूट जाएगा। मौसम विभाग के मुताबिक राजधानी में सबसे कम 0.6 डिग्री तापमान 18 जनवरी 1935 में रिकार्ड किया गया था। शहर का न्यूनतम तापमान आमतौर पर 12.7 डिग्री के आसपास रहता है लेकिन सर्दियों के दौरान इसमें 5 डिग्री तक की कमी हो जाती है।
दो दिन पहले तक औसत से चार डिग्री ऊपर चल रहा तापमान एकदम से नीचे आ गया। हवाओं का रूख बदलते ही मौसम में तेजी से तब्दीली आई और तेज सर्दी से लोग परेशान हो गए। मौसम विभाग के मुताबिक 5 डिग्री या इससे कम तापमान को शीतलहर की स्थिति माना जाता है। शहर में इसकी शुरूआत कही जा सकती है। प्रदेश के अन्य हिस्सों में भी शीतलहर चल रही है। आने वाले दो- तीन दिनों में तापमान और कमी के आसार हैं।
 
  Go Back

  More News
स्टेट हैंगर फिर बना सीएम का दफ्तर
शहर में शीतलहर
मुनिश्री पर हमले के विरोध में धरना
सारंग ट्राफी टूर्नामेंट में साहिल क्लब जीता
पितृभक्ति देख टूटा जेलर
टीवी से कभी दूर नहीं रही : रक्षंदा खान
    Previous Next
 

Home | About Us | Feedback | Contact Us | Disclaimer | Advertisement

� Copyright 2011-12, Dainik Sandhya Prakash | Website developed & hosted by - eWay Technologies