शहला मर्डर मिस्ट्री और सीबीआई:न्यायिक हिरासत 26 मई तक बढ़ाई     24 को मनेगा पर्यटन दिवस:सांची में बनेगा गोल्फ कोर्स     कोलार में बनेगा संपवेल टैंक:एसडीएम ने दिए निर्देश     रायसेन रोड से नहीं जुड़ पाया गोविंदपुरा:औद्योगिक क्षेत्र की हो रही उपेक्षा      ठग खुद ठगी का शिकार:पंचवटी इन्क्लेव में भूखंडों के नाम पर धोखाधड़ी का मामला     उच्च शिक्षा को उद्योग बनने से रोके केंद्र:आरक्षण संशोधन विधेयक पर बोले सांसद गणेश सिंह     महेश्वर विधानसभा उपचुनाव:चुनाव समिति की बैठक कल     महिला मोर्चा बनाएगा मतदान केंद्र समितियां     घाटे में जा सकता है मत्स्य महासंघ:पूर्णकालिक एमडी न होने से कामकाज प्रभावित      एक समान नाम में उलझी डीसीसी     ताजा खबरो के लिये पढ्ते रहें - dainiksandhyaprakash.com
 
 
  कुछ और खबरें

सच्चे प्यार ने दानव को बना दिया मानव

एक राजा की तीन बेटियां थीं। तीनों बेहद खूबसूरत थीं। सबसे बडी़ बेटी का नाम आहना उससे छोटी याना और सबसे छोटी का नाम सारा था। एक बार तीनों अपने राज्य के जंगल में घूमने निकलीं। अचानक तूफान आ गया। उनके साथ आया सुरक्षा दल इधर-उधर बिखर गया। वे तीनो जंगल में भटक गई थीं।
थोड़ी दूर चलने पर उन्हें एक महल दिखाई दिया। अंदर जाकर देखा तो वहां कोई नहीं था। उन्होंने वहां विश्राम किया और टेबल पर रखा भोजन खा लिया। सुबह होते ही सारा उस महल के बगीचे में घूमने निकल गई। सारा ने वहां गुलाब देखे और बिना कुछ सोचे उन्हें तोड़ लिया। उसके फूल तोड़ते ही उस पौधे में से एक राक्षस बाहर आ गया, उसने सारा से कहा की मैंने तुम्हें रहने के लिए घर और खाने के लिए भोजन दिया और तुमने मेरे ही पसंदीदा फूल तोड़ दिए। अब मैं तुम तीनों बहनों को मार डालूंगा।
सारा बहुत डर गई उसने विनती की, लेकिन राक्षस नहीं माना। फिर राक्षस ने एक शर्त रखी कि तुम्हारी बहनों को जाने दूंगा पर तुम्हें यहीं रुकना होगा। सारा ने यह शर्त मान ली और राक्षस के साथ रहने लगी। राक्षस के अच्छे व्यवहार से धीरे-धीरे उनके बीच दोस्ती हो गई। एक दिन राक्षस ने सारा को उसके साथ शादी करने के लिए कहा। सारा न ही हां कर पाई और न ही मना। राक्षस ने इस बात के कारण कभी उस पर कोई दबाव नहीं डाला।
एक बार एक जादुई आईने में सारा ने देखा की उसके पिता की तबीयत ठीक नहीं है। वह रोने लगी। यह देख राक्षस ने उसे सात दिन के लिए घर जाने की इजाजत दे दी। अपने परविार के साथ वह खुश रहने लगी। उसके पिता की तबीयत भी ठीक हो गई। एक रात सारा ने सपने में देखा कि राक्षस बीमार है और उसे बुला रहा है।
वहां जाकर उसने देखा कि राक्षस जमीन पर पड़ा हुआ है। यह देख सारा रोते हुए उसके पास गई। उसे गले लगाकर बोली उठो मैं तुमसे प्यार करती हूं और तुमसे शादी करना चाहती हूं। यह सुनते ही राक्षस एक सुंदर राजकुमार में बदल गया। वह बोला कि मैं यही शब्द सुनने का इंतजार कर रहा था।
उसने बताया की एक बुरी औरत ने उसे श्राप दिया था और कहा था कि जब तक उसे उसका प्यार नहीं मिल जाता वह इसी हाल में तड़पता रहेगा। इसके बाद राजकुमार और राजकुमारी ने शादी कर ली और खुशी-खुशी रहने लगे।
 
  Go Back

  More News
बीआरटी कॉरिडोर से कमाई करेगा बीएमसी
सच्चे प्यार ने दानव को बना दिया मानव
आईपीएल क्रिकेट के खिलाफ प्रदर्शन
मध्यप्रदेश टीम में 9 करातेबाज शामिल
डेक्कन को डिस्चार्ज करने उतरेगा राजस्थान
धुन में मस्त बिपाशा
    Previous Next
 

Home | About Us | Feedback | Contact Us | Disclaimer | Advertisement

Copyright 2011-12, Dainik Sandhya Prakash | Website developed & hosted by - eWay Technologies