पीडब्ल्यूडी और पीएचई को मिलेगा इनकम टैक्स का नोटिस!     लालटेन काण्ड में वर्षों पहले किया था निलंबित:दागी को तकनीकी प्रमुख बनाने की तैयारी     वार्ड आरक्षण का फैसला 13 को:कोलार के पार्षदों की धड़कनें बढ़ीं     कॉलेजों में जमा न करें मूल दस्तावेज:दलालों के बहकावे में न आएं विद्यार्थी     सुरक्षा के नहीं कोई इंतजाम:तेज बारिश में कहर ढाएगी अयोध्या की खंती     कल से चलेगा पोस्टर अभियान:मुख्यमंत्री से पानी मांगेंगे कोलारवासी     सपा की युवजन सभा शीघ्र घोषित करेगी प्रकोष्ठ की कार्यकारिणी     महिला संबंधी अपराधों पर सजग पुलिस:आईजी स्तर के अधिकारी करेंगे मॉनीटरिंग     विधानसभा का घेराव करेंगे प्रदेश भर के माली :आठ सूत्रीय मांगों को लेकर देंगे धरना     डॉक्टरों ने जताया विरोध, सीएम से करेंगे मुलाकात:आईएएस अधिकारी बनेगा हेल्थ डायरेक्टर    ताजा खबरो के लिये पढ्ते रहें - dainiksandhyaprakash.com
 
 
  कुछ और खबरें

मोदी ने नेताजी सुभाषचंद्र बोस से की अपनी तुलना

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर विवाद में फंस गए हैं। मोदी ने इस बार अपनी तुलना नेताजी सुभाषचंद्र बोस से कर डाली है। एक समारोह में उन्होंने भारत की आजादी के लिए दिए गए नेताजी के प्रसिद्ध नारे 'तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा' को भी तोड़ मरोड़ कर 'तुम मेरा साथ दो, मैं तुम्हें विकास दूंगा' कर डाला।अहमदाबाद के टैगोर हॉल में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की इंडियन नैशनल आर्मी के रेजिंग-डे समारोह में मोदी ने नेताजी सुभाषचंद्र बोस की टोपी क्या पहनी, उन्होंने खुद को नेताजी ही समझ लिया। समारोह में प्रेजिडेंट पद के उम्मीदवार पी.ए. संगमा भी मौजूद थे। मोदी ने कहा,सुभाष चंद्र बोस ने अंग्रेजों से लडऩे के लिए नारा दिया 'तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा'। मैंने हरिपुरा में नारा दिया और गुजरात की जनता से मांगा, 'तुम मेरा साथ दो, मैं तुम्हें विकास दूंगा। मोदी ने कहा कि आजादी के समय लोग देश के मरते थे, लेकिन आज देश के जीने वाले लोगों की जरूरत है।
 
  Go Back

  More News
मोदी ने नेताजी सुभाषचंद्र बोस से की अपनी तुलना
शनि देव की कहानी
सालाना ऑडिट रिपोर्ट भी संदेह के घेरे में
दिग्विजय का मध्य प्रदेश की राजनीति में बढ़ता दखल
शटलरों से उलटफेर की उम्मीद
विद्या को टक्कर देंगी राखी और वीना
    Previous Next
 

Home | About Us | Feedback | Contact Us | Disclaimer | Advertisement

Copyright 2011-12, Dainik Sandhya Prakash | Website developed & hosted by - eWay Technologies