500-1000 के नोट पर पाबंदी बनी लोगों की मौत का कारण
By dsp bpl On 13 Nov, 2016 At 12:08 PM | Categorized As मध्यप्रदेश, राजधानी | With 0 Comments

मुरैना/ सागर। 500-1000 के पुराने नोट बदलने की जद्दोजहद में कई अप्रिय घटनाएं सामने आ रही हैं। मध्य प्रदेश के अलग अलग जिलों से पिछले दो दिनों में कई जगहों पर नोट बदलने के चलते लोगों की मौत हो गई। मप्र के सागर में मकरोनिया क्षेत्र में यूनियन बैंक में एक रिटायर्ड बैंककर्मी को नोट बदलने के लिए घंटों लाईन में लगे रहने से हार्ट अटैक आ गया।

पीड़ित विनोद कुमार पांडे(69) करीब 30 मिनट तक बैंक के बाहर तड़पते रहे, लेकिन न तो डायल 100 पहुंची और न 108, और उसकी मौत हो गई। हैरानी की बात यह है कि किसी की जान बचाने के बजाय, ज्यादातर लोगों ने लाइन से हटने भी मुनासिब नहीं समझा। वहीं, मुरैना जिले में नए नोट के अभाव में दवाई नहीं खरीद पाने से परेशान महिला ने फांसी लगाकर जान दे दी।

बताया जा रहा है कि जिले के नरिहाई का पुरा निवासी रेखा जौनवार (31) का जोड़ों के दर्द का इलाज चल रहा था। पिछले दिनों हुई नोटबंदी की वजह से रेखा जरूरी दवाईयां नहीं खरीद पा रही थी, जिससे उसे असहनीय पीड़ा हो रही थी। दवा न मिलने पर दर्द से परेशान रेखा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस दोनों ही मामलों की जांच कर रही है।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>