पेट्रोल पंपों पर ईंधन खत्म, टोलों पर लम्बा जाम
By dsp bpl On 9 Nov, 2016 At 04:01 PM | Categorized As भारत, राजधानी | With 0 Comments

petrolजयपुर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की काले धन पर की गई सर्जिकल स्ट्राइक के बाद मंगलवार रात भर से अमीर से लेकर आम आदमी की नींद उड़ी हुई है। एटीएम मशीनों और पेट्रोल पंपों पर पूरी रात लम्बी लाइनें लगी मिली। लोग रात भर एटीएम मशीनों से पैसे जमा करवाने व निकालने के खड़े रहे। सबसे ज्यादा परेशानी आम आदमी को बुधवार सुबह से हुई जब रोजमर्रा की चीजें खरीदना मुश्किल दूभर हो गया। बैंक और एटीएम बंद होने से लोग जरूरत की चीजें खरीदने के लिए पांच सौ और हजार का नोट हाथ मेें लिए सौ-सौ के खुल्ले मांगते नजर आए। सबसे ज्यादा परेशानी आम आदमी को छोटी-छोटी जरूरत की वस्तुएं खरीदने में हुई। दुकानदारों ने पांच सौ और एक हजार के नोट लेने से साफ इन्कार कर दिया।

प्रदेश की कृषि मंडियों में इस फैसले के विरोध में हड़ताल की घोषणा की है। बड़े नोट बंद होने के बाद बुधवार को बैंक में पब्लिक वर्क नहीं होने से परेशान लोगों की पोस्ट ऑफिसों में करेंसी चेंज करवाने के लिए भीड़ लग गई लेकिन पोस्ट ऑफिसों में कर्मचारियों ने नोट बदलने से साफ मना कर दिया। इसके बावजूद लोग वहां डटे रहे। पांच सौ और एक हजार के नोट बंद होने से सबसे ज्यादा परेशानी वाहन चालकों और उनके साथ ट्रेवल करने लोगों को हुई। टोल बूथों पर कर्मचारियों ने बंद नोट लेने से साफ मना कर दिया। जयपुर-अजमेर हाइवे पर स्थित बगरू टोल पर तीन चार किमी तक लम्बा जाम लग गया। कई जगह टोल कर्मियों और वाहन चालकों के बीच झगड़े भी हुए। सभी टोल नाकों पर यही हालात बने हुए ते। बड़े नोट बंद होने का कन्सट्रक्शन सेक्टर पर भी बुधवार को असर देखा गया। बजरी, लोहे, ईंटों सप्लायर्स ने माल सप्लाई बंद कर दी। इसके अलावा ऑनलाइन शापिंग पर भी लोगों ने बुक सामान की डिलीवरी कैंसिल कर दी। पांच सौ व हजार रुपए का नोट बंद होने की खबर फैलने के बाद लोग असमंजस में पड़ गए। शहर में चौराहों व चाय-पानी की दुकानों पर यहीं चर्चा रही। डिपॉजिटिंग मशीनों पर पैसे जमा कराने वालों की लाइनें लगी थी, पैसा जमा कराने वालों की लाइन बढ़ती गई। जिन्हें नगदी की जरूरत थी उन्होंने भी एटीएम से 400-400 रुपए ही निकाले। सभी जगहों पर लोग सरकार के इस निर्णय पर चर्चा करते दिखाई दिए।

बाजार में सोने के भाव में 100-200 रुपए तक का उतार -चढ़ाव आया है, लेकिन स्थानीय सर्राफा बाजार में सोने के भाव एक ही रात में 3000 से 5000 हजार रुपए तक तेज हो गए। सर्राफा कारोबारी ज्वैलरी के बदले सौ रुपए के नोट मांग रहे हैं। ऐसा नहीं होने पर पेन कार्ड व पहचान पत्र के साथ ही बाजार भाव से पांच हजार रुपए तक ज्यादा मांग रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब पांच सौ रुपए और एक हजार रुपए का नोट बंद करने की घोषणा की थी तब सोने के भाव एमसीएक्स में करीब 29,700 रुपए प्रति दस ग्राम तक थे और बाजार में करीब पांच सौ रुपए ऑन के हिसाब से लोगों को करीब 30200 रुपए प्रति दस ग्राम के भाव से मिल रहा था। प्रधानमंत्री की घोषणा के बाद जहां एमसीएक्स में करीब सौ रुपए की तेजी आई वहीं व्यापारियों ने पांच सौ रुपए ऑन को बढ़ा रुपए करीब तीन से पांच हजार रुपए तक तेज कर दिया। बाजार में सोने के भाव करीब 34 हजार रुपए से 35000 हजार रुपए प्रति दस ग्राम तक पहुंच गए।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>