You Are Browsing ' सम्पादकीय ' Category

By dsp bpl On 14 Jun, 2017 At 12:32 PM | Categorized As सम्पादकीय | With 0 Comments
youth

डॉ. शुभ्रता मिश्रा कौशल और कुशलता के पैमानों पर ही किसी राष्ट्र की समृद्धता और प्रसन्नता निर्भर करती है। संयुक्त राष्ट्रसंघ ने हाल ही में किसी देश की प्रतिव्यक्ति आय, सकल घरेलू उत्पाद, स्वास्थ्य, जीवन प्रत्याशा, उदारता, आशावादिता, सामाजिक समर्थन, सरकार और व्यापार में भ्रष्टाचार की स्थिति आदि के मापदण्डों के आधार पर विश्वस्तर पर […]

By dsp bpl On 14 Jun, 2017 At 12:38 PM | Categorized As सम्पादकीय | With 0 Comments
india-pak

डा. वेद प्रताप वैदिक इस साल भारत और पाकिस्तान शंघाई सहयोग संगठन के बाकायदा सदस्य बन गए हैं। इस संगठन में दोनों की सदस्यता एक साथ हुई, यह अपने आप में विशेष बात है। अब सवाल है कि ये दोनों राष्ट्र क्या उस संगठन में भी एक-दूसरे के साथ वैसा ही बरताव करेंगे, जैसा कि […]

By dsp bpl On 13 Jun, 2017 At 12:47 PM | Categorized As सम्पादकीय | With 0 Comments
journalist

मनोज कुमार ‘ठोंक दो’ पत्रकारिता का ध्येय वाक्य रहा है और आज मीडिया के दौर में ‘काम लगा दो’ ध्येय वाक्य बन चुका है। ध्येयनिष्ठ पत्रकारिता से टारगेटेड जर्नलिज्म का यह बदला हुआ स्वरूप हम देख रहे हैं। कदाचित पत्रकारिता से परे हटकर हम प्रोफेशन की तरफ आगे बढ़ चुके हैं जहां उद्देश्य तय है, […]

By dsp bpl On 13 Jun, 2017 At 12:28 PM | Categorized As सम्पादकीय | With 0 Comments
kishan

सुरेश हिन्दुस्थानी मध्यप्रदेश में किसान आंदोलन बाद राजनीतिक लाभ लेने के लिए उपवास और सत्याग्रह करने की कवायद की जाने लगी है। भाजपा और कांगे्रस एक दूसरे से आगे निकलने की होड़ करते दिखाई दे रहे हैं। किसानों के प्रति हमदर्दी दिखाते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान उपवास पर बैठे। इसके माध्यम से उनका उद्देश्य […]

By dsp bpl On 8 May, 2017 At 02:30 PM | Categorized As सम्पादकीय | With 0 Comments
bjp

एम. एच. बाबू भाजपा का यह एक अचूक निशाना हो सकता है, यदि भाजपा ऐसा करती है तो एक तीर से कई निशाने निश्चित साध लेगी, क्योंकि भाजपा की रणनीति आने वाले लोक सभा चुनाव में सभी समीकरणों को मजबूती से सिद्ध करना होगा, वास्तव में भाजपा आने वाले लोकसभा चुनाव में पुन: अपनी बड़ी […]

By dsp bpl On 8 May, 2017 At 02:15 PM | Categorized As सम्पादकीय | With 0 Comments
Ashok Gehlot

निरंजन परिहार अशोक गहलोत एक बार फिर राजनीति की रपटीली राह पर मजबूत कदमों से आगे बढ़ते दिख रहे हैं। कांग्रेस में उन्हें महासचिव बनाया है। सहयोग के लिए चार सचिव देकर गुजरात कांग्रेस का प्रभारी भी बनाया गया है। गहलोत अनुभवी हैं, ताकतवर भी हैं और मजबूत जनाधारवाले भी। दो बार मुख्यमंत्री, तीन बार […]

By dsp bpl On 1 May, 2017 At 02:36 PM | Categorized As सम्पादकीय | With 0 Comments
1493447613-1177

आज मजदूर दिवस पर सुबह जैसे ही अखबार उठाया और उसमें यह खबर पढ़ी, निश्चित ही वह देश के मजदूरों के वर्तमान हालातों को बयां करते हुये दिखाई देती है । जिसके अनुसार एक खेत मालिक ने अपने यहां नौकर को अपने कुत्ते से मरवा डाला । यहां तक कि वह कुत्ता उसका 25 परसेंट […]

By dsp bpl On 1 May, 2017 At 01:19 PM | Categorized As सम्पादकीय | With 0 Comments
new india

‘भारत गांवों का देश है’-ऐसा कहा जाता है। पर आज हम देख रहे हैं कि गांवों से भारत शहरों की ओर भाग रहा है। मानो, वह इस कहावत को अब बदल देना चाहता है कि ‘भारत गांवों का देश है।’ भारत शहरों का देश बनता जा रहा है। लोगों का मिट्टी से लगाव कम होकर […]

By dsp bpl On 1 May, 2017 At 01:27 PM | Categorized As सम्पादकीय | With 0 Comments
majdoor

जो मई दिवस दुनिया के मजदूरों के एक हो जाने के पर्याय से जुड़ा था,भूमण्लीकरण और आर्थिक उदारवादी नीतियों के लागू होने के बाद वह किसान और मजदूर के विस्थापन से जुड़ता चला गया। मई दिवस का मुख्य उद्देश्य मजदूरों का सामंती और पूंजी के शिकंजे से बाहर आने के साथ उद्योगों में भागीदारी भी […]

By dsp bpl On 29 Apr, 2017 At 11:20 AM | Categorized As सम्पादकीय | With 0 Comments
1491896897_Yogi_adityanath_CM-770x433

अजय कुमार उत्तर प्रदेश की योगी सरकार तेजी से फैसले ले रही है। उम्मीद है कि जल्द इसका प्रभाव देखने को मिलेगा। बात आज तक की कि जाये तो फिलहाल कानून व्यवस्था को छोड़कर अन्य फैसलों का अभी जमीन स्तर पर कोई खास असर नहीं दिखाई पड़ रहा है और यह उम्मीद भी नहीं की […]