Home व्यापार फोन इंटरसेप्शन सिस्टम की खरीदारी में भ्रष्टाचार का मामला दर्ज

फोन इंटरसेप्शन सिस्टम की खरीदारी में भ्रष्टाचार का मामला दर्ज

26
0

नयी दिल्ली। सीबीआई ने देश की जांच एजेंसियों के लिए इलेक्ट्रॉनिक कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड द्वारा जर्मनी की एक कंपनी से करीब 41 करोड़ रुपए के फोन इंटरसेप्शन सिस्टम की खरीदारी में भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया है। सीबीआई ने इस संबंध में सरकारी कंपनी इलेक्ट्रॉनिक कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड के पूर्व अधिकारियों, जर्मनी की कंपनी और एक पूर्व सैन्य बिचौलिए के खिलाफ मामला दर्ज किया है। सीबीआई ने अपनी प्राथमिकी में कहा कि ईसीआईएस ने वर्ष 2004 से वर्ष 2010 के बीच जर्मन कंपनी ईएलडी इंस्ट्री से जीएसएम फोन के लिए 41 करोड़ रुपए में 12 इंटरसेप्शन और मॉनिटरिंग सिस्टम खरीदे।

चौंकाने वाली बात यह है कि सीबीआई को 13 सितंबर 2013 को ईसीआईएल के मुख्य सतर्कता अधिकारी से शिकायत मिली थी, लेकिन साढ़े तीन साल बाद एजेंसी हरकत में आई और इस साल मार्च में प्रारंभिक जांच (पीई) दर्ज की गई। ईसीआईएल के सतर्कता अधिकारी ने जीएसएम इंटरसेप्शन और मॉनीटरिंग सिस्टम के मामले में खास अनियमितताओं के बारे में बताया था। सतर्कता अधिकारी की रिपोर्ट के आधार पर सीबीआई ने मार्च 2017 में प्रारंभिक जांच की जिसमें ईएसआईएस अधिकारियों और सौदे में शामिल विभिन्न निजी कंपनियों की ओर से आपराधिक कदाचार का प्रथम दृष्ट्या खुलासा हुआ।

जांच में खुलासा हुआ कि आरोपियों ने फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल किया और मूल उपकरण विनिर्माता के बजाए अयोग्य आपूर्तिकर्ता से जीएसएम इंटरसेप्शन एंड मॉनीटरिंग प्रणाली खरीदी जिससे ईसीआईएल को नुकसान हुआ। एजेंसी ने पूर्व ईसीआईएल अधिकारियों वरिष्ठ डीजीमी के हरि सत्यनारायण, महाप्रबंधक वी सत्यनारायण, डीजीएम एम वी मूर्ति, निदेशक जी एन वेंकैट सत्यनारायाण और डीजीएम (खरीदारी) के सुब्बा राव (सभी सेवानिवृत्त) के खिलाफ आपराधिक षड़यंत्र, आपराधिक कदाचार, धोखाधड़ी और फर्जीवाड़े का मामला दर्ज किया था।

सीबीआई ने ईएलडी इंडिया और हार्टरोन केस कम्युनिकेशंस प्राइवेट लिमिटेड का प्रतिनिधित्व करने वाले कर्नल सुरेश भाटिया (सेवानिवृत्त), जर्मनी की ईएलडी इंडस्ट्री होल्डिंग के मालिक ई लियोपोल्ड डीक, ईएलडी इंडस्ट्री कंपनी, नयी दिल्ली स्थित कंपनियों हार्टरोन केस कम्युनिकेशंस, बायनरी नेटवर्क सोल्यूशंस और नेट4 कम्युनिकेशंस प्राइवेट लिमिटेड और डीक के तत्कालीन कार्यकारी सचिव जर्मनी के नागरिक नादीन रोथवीलर के खिलाफ भी मामला दर्ज किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here