तीन तलाक विरोधी विधेयक पेश, सरकार ने कहा ऐतिहासिक, ओवैसी ने किया विरोध
By dsp bpl On 28 Dec, 2017 At 01:32 PM | Categorized As भारत | With 0 Comments

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने गुरुवार को लोकसभा में तीन तलाक पर विधेयक पेश कर दिया। विधेयक पेश करते समय उन्होंने कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक दिन है क्योंकि हम मुस्लिम बहनों के हितों की रक्षा करने के लिए विधेयक पेश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज हम इतिहास बना रहे हैं। जो आपत्तियां आई हैं उन पर मैं कहना चाहता हूँ कि यह कोई पूजा या प्रार्थना का नहीं बल्कि नारी को न्याय और नारी की गरिमा का है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक विरोधी कानून बनाने को कहा था यदि उसके बाद भी हम ध्यान नहीं दें और मुस्लिम महिलाओं को सड़क पर छोड़ दिया जाये तो क्या यह सदन देखता रहेगा। उन्होंने कहा कि आज सदन को यह तय करना है कि तीन तलाक पीड़ित महिलाओं के हितों की यह सदन रक्षा करेगा या नहीं।

उन्होंने कहा कि यह पूछा जा रहा है कि इसे अपराध क्यों बनाया जा रहा है तो मैं कहना चाहता हूँ कि सुप्रीम कोर्ट की ओर से तीन तलाक को पाप बताये जाने पर भी यह सिलसिला बदस्तूर जारी था।

विधेयक को पेश करने पर आपत्ति जताते हुए सांसद असद्दुदीन ओवैसी ने कहा कि यह विधेयक मूलभूत अधिकारों का उल्लंघन है। उन्होंने कहा कि यदि यह विधेयक पास हुआ तो मुस्लिम महिलाओं के भी अधिकारों का हनन होगा।

राष्ट्रीय जनता दल ने भी विधेयक पर आपत्ति जताते हुए इसमें मौजूद सजा के प्रावधान का विरोध किया। बीजू जनता दल ने विधेयक में कई खामियां बनाई हैं और आल इंडिया मुस्लिम लीग ने भी विधेयक का विरोध किया है।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>