धैर्य रखने की जगह हम रोमांचित हो गये: भुवनेश्वर कुमार
By dsp bpl On 20 Nov, 2017 At 02:37 PM | Categorized As खेल | With 0 Comments

कोलकाता। भारतीय टीम के तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने कहा कि पिच से गेंदबाजों को मिल रही मदद के सामने भारतीय बल्लेबाजों की परेशानी को देखकर वे अतिउत्साहित हो गये, इसलिये टीम ने तीसरे दिन ज्यादा रन लुटा दिये। श्रीलंकाई टीम ने पहले टेस्ट के चौथे दिन पहली पारी में 122 रन की बढ़त ले ली जिसका मुख्य श्रेय भारतीय गेंदबाजी खासकर उमेश यादव की ढीली गेंदबाजी को जाता है।

भुवनेश्वर ने गेंदबाजों की गलती मानते हुये कहा, ”श्रीलंकाई गेंदबाजों के प्रदर्शन को देखकर हम इस विकेट पर गेंदबाजी करने को लेकर काफी उत्सुक थे। लेकिन विकेट पूरी तरह से बदल गया। हां, हम कुछ रन जरूर रोक सकते थे। हमें थोड़ा अधिक धैर्यवान होना चाहिये था। उन्होंने कहा, ”हमें श्रीलंका की बढ़त को 60-70 रन के अंदर रोकना चाहिये था। मौसम में ज्यादा नमी ने हमें थका दिया और हमने कुछ खराब गेंदे फेंकी। हम इस में सुधार कर सकते थे।’’ एकदिवसीय मैचों से टेस्ट मैच में आने पर हो रही परेशानी के बारे में पूछे जाने पर भुवनेश्वर ने कहा, ”उमेश और शमी रणजी मैच खेलकर यहां आये है। मुझे नहीं लगता की हमें कोई परेशानी थी क्योंकि हमें सिर्फ गेंद की लंबाई और दिशा सही करनी थी। मैंने लय हासिल कर ली है और कोशिश करूंगा की आने वाले मैचों में यह कायम रहे।’’

भुवनेश्वर 88 रन पर चार विकेट लेकर भारत के सबसे सफल गेंदबाज रहे लेकिन कल मांसपेशियों में खिंचाव से जूझने वाले शमी ने वापसी करते हुये 100 रन देकर चार विकेट लिये। उन्होंने कहा, ‘‘शमी शनिवार को दुर्भाग्यशाली रहे और चोटिल हो गये। उन्होंने कमाल की गेंदबाजी की, यह देखना शानदार था।’’ पहली परी के आधार पर 122 से पिछड़ने के बाद भारतीय टीम ने दूसरी पारी में सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (94) और लोकेश राहुल (नाबाद 73) की 166 रन की साझेदारी के दम पर चौथी दिन का खेल खत्म होने तक 49 रन की बढ़त बना ली है। भुवनेश्वर ने कहा, ‘‘हम ये नहीं कहेंगे कि पने प्रदर्शन से हम पूरी तरह संतुष्ट है लेकिन जिस तरह विकेट पहले से अच्छी हुई उससे हम खुश है। हमारी बल्लेबाजी उसका सबूत है।’’ धवन की पारी पर उन्होंने कहा, ”पहली पारी में वह दुर्भाग्यशाली रहे और जल्दी आउट हो गये। वह मुश्किल विकेट था। दूसरी पारी में उन्होंने शानदार बल्लेबाजी की और हम अच्छी स्थिति में हैं।”

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>