कांग्रेस ने कहा- संसद सत्र में देरी करना तुगलकी निर्णय
By dsp bpl On 11 Nov, 2017 At 01:28 PM | Categorized As भारत | With 0 Comments

गुजरात में आसन्न विधानसभा चुनावों के कारण संसद के शीतकालीन सत्र में विलंब होने संबंधी मीडिया रिपोर्ट की अटकलों पर पर विपक्षी कांग्रेस ने भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा है कि यह ‘तुगलकी निर्णय’ है। कांग्रेस ने यह भी भरोसा जताया है कि गुजरात में पार्टी के पक्ष में ‘‘आश्चर्यजनक परिणाम’’ आयेंगे जहां भाजपा दो दशक से अधिक समय से सत्ता में है। कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने संवाददाताओं को बताया, ‘‘क्या आप पहली बार गुजरात में चुनाव करवा रहे हैं। अचनाक गुजरात चुनाव सरकार के लिए इतना महत्वपूर्ण क्यों हो गया। यह पूर्ण रूप से तुगलकी निर्णय है।’’

सिंघवी ने कहा कि संसद सत्र के दौरान राष्ट्रीय महत्व के मुद्दों पर चर्चा होती है। उन्होंने पूछा कि अगर इसमें देरी होती है तो किसे फायदा मिलेगा। कांग्रेस नेता ने कहा कि संसद सत्र में अगर देरी होती है तो निश्चित तौर पर इसका फायदा भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के बेटे शौर्य को को मिलेगा क्योंकि विपक्ष इन मसलों को संभवत: संसद में उठाएगा।

उल्लेखनीय है कि कथित रूप से अनियमितताओं की खबरों के बाद जय और शौर्य विपक्षी दलों के निशाने पर हैं। उन्होंने कहा, ‘‘इस सत्र में राष्ट्रीय महत्व के मुद्दों पर चर्चा होगी। (सत्र में देरी) से उन लोगों को फायदा होगा जो चर्चा करना नहीं चाहते हैं।’’ कांग्रेस प्रवक्ता ने आश्चर्य जताया कि यह किस प्रकार का ‘‘नया माडल’’ है जहां संसद सत्र देर से बुलाया जा रहा है। सिंघवी ने चिंता जतायी कि यह ‘‘माडल’’ किसी राज्य में चुनाव के कारण संसद में देरी करने की एक नजीर बनेगा। गुजरात चुनाव से पहले सर्वेक्षण कराये जाने के बारे में पूछने पर सिंघवी ने कहा कि उनकी पार्टी के आंतरिक सर्वेक्षण में यह संकेत मिलता है कि वहां ‘‘आश्चर्यजनक परिणाम’’ आएगा। हालांकि सिंघवी ने सीटों की संख्या के बारे बताने से इंकार कर दिया।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>