शी दूसरी बार चीन की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के प्रमुख बने
By dsp bpl On 25 Oct, 2017 At 01:01 PM | Categorized As विश्व | With 0 Comments

बीजिंग। शी चिनफिंग आज दूसरी बार चीन में सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के प्रमुख चुने गये हैं। शी का यह कार्यकाल पांच वर्ष का होगा। सीपीसी की पांच वर्ष में एक बार होने वाली बैठक में नये नेतृत्व का चुनाव किया जाता है। इसमें पार्टी के प्रमुख सहित पोलित ब्यूरो के सदस्यों को चुना जाता है। बंद दरवाजे के भीतर हुए मतदान में 64 वर्षीय शी को पोलित ब्यूरो की स्थायी समिति का अध्यक्ष चुना गया जबकि प्रधानमंत्री ली क्विंग अपनी सीट बचाने में कामयाब रहे। पोलित ब्यूरो के पांच सदस्य भी चुने गये हैं।

शी और ली पोलित ब्यूरो की स्थायी समिति के नये सदस्यों के साथ मीडिया के समक्ष आये। बीजिंग के ‘ग्रेट हॉल ऑफ द पीपुल’ से इस पूरी कवायद का दुनिया भर में सीधा प्रसारण किया गया। बैठक के दौरान पांच नये कॉमरेड ने 68 वर्ष की आयु पूरी कर सेवानिवृत्त हो रहे सदस्यों का स्थान लिया। संक्षिप्त संबोधन में शी ने कांग्रेस (बैठक) की खबरें सभी तक पहुंचाने के लिए कड़ी मेहनत करने पर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मीडिया को धन्यवाद दिया।

उन्होंने चीन के आधुनिकता के नये युग में प्रवेश पर बातें कीं। शी ने कहा, ‘‘जब मैं अगले पांच वर्षों को देखता हूं, मैं कई महत्वपूर्ण अवसर और संकेतक देखेंगे।’’ उन्होंने कहा कि पार्टी के 19वें और 20वें सम्मेलन के बीच पांच वर्ष का समय वह वक्त है जब दो शताब्दी लक्ष्यों का प्राप्त किया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘हमें ना सिर्फ पहला शताब्दी लक्ष्य प्राप्त करना है, बल्कि दूसरे शताब्दी लक्ष्य की प्राप्ति पर भी काम करना है।’’

शी ने कहा, ‘‘दशकों का कठिन परिश्रम और चीनी तत्वों वाला समाजवाद नये युग में प्रवेश कर चुका है। इस नये संदर्भ में, हमें नया रूप धारण करना चाहिए और सबसे जरूरी है कि हमें नयी उपलब्धियां हासिल करनी चाहिए।’’ पांच साल में एक बार होने वाली इस बैठक की सबसे खास बात यह रही कि सीपीसी ने सम्मेलन के अंतिम दिन शी चिनफिंग की विचारधारा को अपने संविधान में शामिल किये जाने को मंजूरी दे दी।

गौरतलब है कि अभी तक पार्टी के संविधान में सिर्फ माओ त्से तुंग और उनके उत्तराधिकारी देंग शिआयोपिंग की विचारधारा शामिल है। देंग के विचारों को मरणोंपरांत पार्टी संविधान में शामिल किया गया था।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>