किसानों ने दी चेतावनी, अघोषित लोडशेडिंग बंद करो वरना महावितरण पर लगेगा ताला
By dsp bpl On 6 Oct, 2017 At 11:20 AM | Categorized As भारत | With 0 Comments

मुंबई। नाशिक महानगरपालिका सीमाक्षेत्र के वडनेर, दुमाला, दाढेगांव, पिंपलगांव-खांब और पाथर्डीगांव परिसर के ग्रामीण परिसरों में 13 से 15 घंटे तक लोडशेडिंग चल रही है। इस अघोषित लोडशेडिंग को किसानों ने तत्काल बंद करने की मांग करते हुए चेतावनी दिया है यदि इसे बंद नहीं किया गया तो बिजली सप्लाई करने वाली महावितरण कंपनी के कार्यालय पर ताला लगा दिया जाएगा।

नाशिक के ग्रामीण परिसर में जारी अघोषित लोडशेडिंग को लेकर जहां ग्रामीणों में महावितरण कंपनी के खिलाफ आक्रोश व्याप्त है। किसान, कामगार व ग्रामीणों के प्रतिनिधिमंडल ने महावितरण कंपनी के मुख्य अभियंता दीपक कुमठेकर से क्षेत्र में जारी अघोषित लोडशेडिंग को लेकर चर्चा किया और होने वाली परेशानी से अवगत कराया। प्रतिनिधिमंडल ने मुख्य अभियंता से कहा कि अघोषित लोडशेडिंग के चलते किसान, विद्यार्थी एवं मजदूरों को भारी समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

किसानों ने दो दिनों में लोडशेडिंग बंद नहीं होने पर महावितरण कंपनी कार्यालय में ताला लगाने की चेतवानी दी है। किसानों के अनुसार बिजली कंपनी की मनमानी से अनेक समस्याएं उत्पन्न हो रही हैं। फसल को पानी देना संभव नहीं हो पा रहा है, वर्तमान में विद्यार्थियों की परीक्षा चल रही है। अघोषित लोडशेडिंग से पढ़ाई बाधित हो रही है। किसानों का कहना है कि नाशिक शहर में 24 घंटे बिजली मिल रही है, लेकिन ग्रामीण इलाकों में लगातार लोडशेडिंग हो रही है। मुख्य अभियंता दीपक कुमठेकर से मिलनेवाले प्रतिनिधमंडल में भिकाभाऊ ढेमसे, गणेश जाधव, सोमनाथ बोराडे, योगेश पोरजे, किरण कर्डिले, विज कदम, निलेश कर्डिले, सोमनाथ कोकणे, बबन पोरजे, राहुल थोरात, अशोक उन्हवणे आदि शामिल थे।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>