Home विश्व रोहिंग्या मुद्दे पर आंग सान सू से वापस लिया गया प्रतिष्ठित ‘सम्मान’

रोहिंग्या मुद्दे पर आंग सान सू से वापस लिया गया प्रतिष्ठित ‘सम्मान’

20
0

लंदन। सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड द्वारा म्यामां की नेता आंग सान सू ची को दिया गया सम्मान उनके देश में रोहिंग्या मुसलमानों की दुर्दशा पर उनके द्वारा कथित समुचित कदम नहीं उठाने पर वापस ले लिया गया है। ऑक्सफोर्ड सिटी काउंसिल ने म्यामां की इन नेता को लोकतंत्र के लिए लंबा संघर्ष करने को लेकर वर्ष 1997 में ‘ फ्रीडम ऑफ ऑक्सफोर्ड’ प्रदान किया था। कल परिषद ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया कि उनके पास यह सम्मान होना अब उपयुक्त नहीं है।

ऑक्सफोर्ड सिटी काउंसिल के नेता बॉब प्राइस ने उनका सम्मान वापस लेने के कदम का स्वागत किया और इस बात की पुष्टि की कि यह स्थानीय प्रशासन के लिए ‘अप्रत्याशित कदम है।’ सिटी काउंसिल इस बात के सत्यापन के लिए 27 नवंबर को एक विशेष बैठक करेगी कि यह सम्मान वापस लिया जाए। नोबेल शांति पुरस्कार विजेता सू ची का सिटी ऑफ ऑक्सफोर्ड से गहरा नाता रहा है। वह अपने परिवार के साथ पार्क टाउन में रह चुकी हैं और वह 1964-67 के दैरान सेंट ह्यू कॉलेज गयी थीं।

सिटी काउंसिल के इस कदम से पहले सेंट ह्यू कॉलेज अपने प्रवेश द्वार से उनकी तस्वीर हटा चुका है। वैसे तस्वीर हटाने का कारण समायोजन बताया जा रहा है लेकिन ऐसी भी सोच है कि रोहिंग्या मुसलमानों का सफाया इसकी वजह हो सकती है। म्यामां में सेना के अभियान के बाद करीब पांच लाख रोहिंग्या मुसलान विस्थापित हो गये हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here