Home भारत ताज सहित सांस्कृतिक धरोहरों का विकास प्राथमिकता: रीता बहुगुणा

ताज सहित सांस्कृतिक धरोहरों का विकास प्राथमिकता: रीता बहुगुणा

44
0

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि आगरा के ताजमहल सहित राज्य की सांस्कृतिक धरोहरों का समग्र विकास सरकार की प्राथमिकता है। रीता ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘ताजमहल हमारी सांस्कृतिक विरासत है और विश्व विख्यात पर्यटन स्थलों में से एक है। सांस्कृतिक धरोहरों का समग्र विकास और पर्यटकों की सुविधाओं के लिए अवस्थापना सुविधाओं का विकास राज्य सरकार की प्राथमिकताओं में है।’ पर्यटन मंत्री ने उनके विभाग द्वारा जारी ‘‘उत्तर प्रदेश पर्यटन-अपार सम्भावनाएं’’ पुस्तिका में आगरा का उल्लेख न होने के भ्रम को लेकर स्पष्ट किया कि इस पुस्तिका में भी पर्यटन विभाग की अन्य महत्वपूर्ण परियोजना शीर्षक के तहत (पृष्ठ संख्या-5) आगरा एवं ब्रज के विकास का उल्लेख किया गया है।

उन्होंने कहा कि हाल ही में 28 सितम्बर को प्रेस कान्फ्रेंस में अवगत भी कराया गया था कि विश्व बैंक सहायतित उत्तर प्रदेश ‘प्रो पुअर पर्यटन विकास परियोजना’ के माध्यम से दो प्रमुख पर्यटन क्षेत्र-आगरा एवं ब्रज के अन्तर्गत पर्यटन सम्बन्धी गतिविधियों के माध्यम से गरीबी उन्मूलन तथा रोजगार सृजन करने की योजना है। मंत्री ने बताया कि योजना की कुल लागत 370 करोड़ है, जिसमें 70 प्रतिशत भागीदारी विश्व बैंक की तथा 30 प्रतिशत भागीदारी प्रदेश सरकार की है। उन्होंने बताया कि आगरा में अवस्थापना सुधार तथा ताजमहल के आस-पास के क्षेत्र के समग्र विकास के लिए कई योजनाएं स्वीकृत हैं, जिन पर शीघ्र ही कार्य प्रारम्भ हो जायेगा। प्रदेश सरकार आगरा में मेट्रो रेल के संचालन के लिए प्रभावी कार्रवाई कर रही है। उन्होंने बताया कि आगरा को स्मार्ट सिटी मिशन के तहत विकसित कराया जा रहा है।
इन प्रयासों से पर्यटन के मानचित्र पर आगरा को एक नई पहचान मिलेगी। पर्यटन मंत्री ने अवगत कराया कि पर्यटन विभाग द्वारा पुस्तिका में प्रदेश के हेरिटेज परिपथ (पृष्ठ संख्या-12) के लिए स्वीकृत कार्यों का भी उल्लेख हुआ है। इस तरह आगरा पर्यटन और विकास की विविध योजनाओं में शामिल है। उन्होंने स्पष्ट किया कि प्रदेश सरकार अपने स्थापित पर्यटन स्थलों के अनुरक्षण और विकास के साथ-साथ प्रदेश में पर्यटन की अपार सम्भावनाओं को विश्व-स्तरीय पर्यटन स्थलों के रूप विकसित करने की दिशा में तेजी से कार्य कर रही है। रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि प्रदेश में जनमानस को अदम्य आकर्षण से रोमांचित करने वाला ‘कुम्भ’ भी आयोजित होता है और सरकार प्रयासरत है कि इस आयोजन को विश्व स्तर के पर्यटन से जोड़े। उन्होंने अवगत कराया कि पर्यटन की वेबसाइट पर आगरा स्थित ताजमहल ही सबसे पहले अंकित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here