धूमधाम से मनाया जाएगा दशहरा, जगह-जगह जलेंगे रावण
By dsp bpl On 30 Sep, 2017 At 12:15 PM | Categorized As मध्यप्रदेश, राजधानी | With 0 Comments

भोपाल। मध्यप्रदेश में शनिवार को असत्य पर सत्य और बुराई पर अच्छाई के प्रतीक का पर्व दशहरा (विजयादशमी पर्व) धूमधाम से मनाया जाएगा। इसी सभी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। राजधानी भोपाल समेत प्रदेशभर में जगह-जगह रावण, कुंभकरण और मेघनाथ के पुतले दहन किए जाएंगे। प्रदेश के सभी दशहरा मैदानों पर तीनों राक्षसों के विशालकाय पुतले खड़े हो चुके हैं और शाम को भगवान श्रीराम इनका दहन करेंगे।

राजधानी भोपाल में दशहरा का मुख्य आयोजन 11 स्थानों पर होगा। इसके अलावा गलियों-मोहल्लों में भी रावण दहन के छोटे-छोटे कार्यक्रम होंगे, जिनमें रावण का पुतला दहन कर लोग खुशियां मनाएंगे। इसी तरह प्रदेशभर में शनिवार शाम को रावण, मेघनाथ और कुंभकरण के पुतले दहन किए जाएंगे और इसके बाद लोग अपने बड़े-बूढ़ों का आशीर्वाद लेंगे।

इधर उज्जैन के दशहरा मैदान पर लाला अमरनाथ स्मृति में 54वें दशहरा महोत्सव के तहत चायनीय पुतले के रूप मेें रावण दहन होगा। इसकी ऊंचाई 101 फिट होगी। दशहरा महोत्सव समिति के अध्यक्ष ओमप्रकाश खत्री ने बताया कि आतिशबाजी के कलाकार भय्यू खान देवास, सीताराम ग्वालियर एवं इन्दौर के अन्य कलाकारों द्वारा विभिन्न गगनचुंभी आतिशबाजी आकर्षण रहेगी। प्रतिवर्षानुसार भगवान महाकलेश्वर एवं श्रीराम-लक्ष्मण-हनुमान की सवारी दशहरा मैदान पहुंचेगी। यहां कलेक्टर संकेत भोंडवे पूजन करेंगे। एसपी सचिन अतुलकर आतिशबाजी का शुभारम्भ करेंगे। कार्यक्रम में जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित किया गया है।

कार्तिक मेला प्रांगण में विजयादशमी महोत्सव अंतर्गत प्रेमनारायण यादव स्मृति में रावण के बाहुबली स्वरूप का दहन होगा। पं. आनंदशंकर व्यास एवं पूर्व महापौर राधेश्याम उपाध्याय की प्रेरणा से इस वर्ष बाहुबली स्वरूप से रावण के पुतले का निर्माण किया गया है। रंगीन आतिशबाजी का प्रदर्शन संध्या 6.30 बजे से होगा। पुतले का निर्माण कादिर खान आगरा वाले के निर्देशन में कलाकारों ने किया है। जमीनी एवं आकाशीय आतिशबाजी का जंगी मुकाबला ओमप्रकाश ग्वालियर एवं सीताराम के मध्य होगा। समारोह में सभी धर्मगुरुओं का सम्मान किया जाएगा। प्रत्येक वर्ष की भांति इस वर्ष भी भगवान श्रीराम एवं रावण के मध्य समर क्षेत्र में संवाद भी होंगे और उसी के साथ भगवान हनुमान एवं रावण के मध्य महासंग्राम होगा।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>