Home भारत मोदी कैबिनेट का विस्तार कल, एक दर्जन नए चेहरे होंगे शामिल

मोदी कैबिनेट का विस्तार कल, एक दर्जन नए चेहरे होंगे शामिल

14
0

नई दिल्ली। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार कल (रविवार) सुबह दस बजे अपनी मंत्रिमंडल में तीसरा अहम फेरबदल करने वाली है। इस बदलाव को 2019 के चुनावों से जोड़कर देखा जा रहा है। इस सरकार का यह शायद आखिरी फेरबदल होगा। इसके लिए मोदी कैबिनेट के सात मंत्रियों ने अपने पद से अभी तक इस्तीफा भी दे दिया है। मंत्रिमंडल फेरबदल में सबसे अहम यही होगा कि रक्षा मंत्रालय का प्रभार किसको दिया जाता है।

गोवा मुख्यमंत्री बनने के बाद मनोहर पर्रिकर ने रक्षा मंत्रालय से इस्तीफा दे दिया था इसके बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली रक्षा मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार संभाल रहे हैं। जेटली ने बकायदा इसके संकेत दिए है कि वह दो मंत्रालयों की जिम्मेदारी एक साथ नहीं संभाल सकते हैं। ऐसे में रक्षा मंत्री के पद के लिए राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज, नितिन गडकरी, भाजपा उपाध्यक्ष ओम माथुर, रेल मंत्री सुरेश प्रभु के नामों पर चर्चा हुई है। हालांकि अगर राजनाथ सिंह को यह अहम जिम्मेदारी दी जाएगी तो गृह मंत्रालय में किसी नए मंत्री की नियुक्ति की जा सकती है।

सूत्रों के अनुसार रविवार को प्रात करीब दस बजे राष्ट्रपति भवन में शपथ ग्रहण समारोह के लिए प्रक्रिया प्रारम्भ कर दी गई है। वहीं, मंत्रिमंडल फेरबदल में किसी प्रदेश के मुख्यमंत्री को शामिल किये जाने की अटकलें लगाई जा रही है। चर्चाओं के अनुसार राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को केंद्रीय राजनीति में लाने की कवायद चल रही है। पार्टी आलाकमान और पीएमओ वसुंधरा से नाराज बताये जा रहे हैं।

इस बीच राजीव प्रताप रूडी, फग्गन सिंह कुलस्ते, कलराज मिश्र, संजीव बलियान, उमा भारती, गिरिराज सिंह, महेंद्र नाथ पांडेय ने इस्तीफे की पेशकश कर दी है। मंत्रिमंडल में जिन नए चेहरों को जगह मिल सकती हैं उनमें 5 नए नाम सामने आ रहे हैं, विनय सहस्त्रबुद्धे, प्रह्लाद पटेल, ओम माथुर, भूपेंद्र यादव, बृजभूषण शरण सिंह, प्रह्लाद जोशी और सत्यपाल सिंह इत्यादी शामिल है। मंत्रिमंडल में कुछ मंत्री ऐसे हैं जिनके काम से पीएम मोदी काफी खुश हैं, इन मंत्रियों में पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान और प्रकाश जावड़ेकर शामिल हैं। इन तीनों का प्रमोशन कर इन्हें नया मंत्रालय दिया जा सकता है।

सूत्रों के मुताबिक मंत्रिमंडल में पूरा बदलाव ‘पी और एन’ फार्मूले के आधार पर होगा। इस एक्‍सेल शीट में जिन मंत्रियों का काम संतोषजनक है, उनके नाम के आगे पी यानी पॉजिटिव लिखा गया है। वहीं अन्‍य के आगे एन यानी निगेटिव लिखा गया है। इस लिस्‍ट में भाजपा के साथ ही सहयोगी दलों के मंत्रियों के भी नाम शामिल हैं। लिस्‍ट में जिनके नाम के आगे एन लिखा है, उनकी मंत्रिमंडल से छुट्टी तय मानी जा रही है। पूरी फेरबल इस शीट के आधार पर ही होगा। भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह ने मंत्रिमंडल में फेरबदल के लिए आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत से भी म‍शविरा कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here