भारत-स्विटजरलैंड की दोस्ती 70 वर्ष पुरानी : मोदी
By dsp bpl On 31 Aug, 2017 At 04:51 PM | Categorized As भारत | With 0 Comments

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और स्विट्जरलैंड की राष्ट्रपति डोरिस लॉएटहार्ड ने हैदराबाद हॉउस में संयुक्त बयान जारी किया। जिसमें भारत-स्विट्जरलैंड के मध्य संबंधों को मजबूत करने की बात कही गई । द्विपक्षीय वार्ता के दौरा अहम रूप से प्रधानमंत्री मोदी और स्विट्जरलैंड राष्ट्रपति डोरिस लॉएटहार्ड के मध्य कालेधन के मुद्दे पर बात हुई है। दोनों देशों के बीच कई मुद्दों पर सहमति बनी है।

प्रधानमंत्री मोदी ने एमटीसीआर की सदस्यता के लिए सहयोग देने पर स्विट्जरलैंड का तहेदिल से शुक्रिया अदा किया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘सभी देश जलवायु परिवर्तन के रूप में सबसे बड़ी चुनौती का सामना कर रहे हैं। हम अपनी आजादी के 70 सालों के साथ ही अपनी दोस्ती के 70 सालों को भी मना रहे हैं।’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘मुझे खुशी है कि स्विट्जरलैंड ने आयुर्वेद को पहचाना और इस क्षेत्र में ज्यादा सहयोग देने की इच्छा जताई। एफडीआई हमारे आर्थिक रिश्तों का आधार है और भारत स्विस निवेशकों का स्वागत करता है।’ प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘मुझे विश्वास है कि आपकी ये यात्रा हमारे संबंधों को नई ऊंचाइयों पर ले जाने में सहायक सिद्ध होगी। अत्यंत सार्थक चर्चा के लिए मैं राष्ट्रपति महोदया को धन्यवाद देता हूं और आने वाले महीनों में आपके साथ मिलकर काम करने के लिए उत्सुक हूं।’

वहीं स्विस राष्ट्रपति डोरिस लॉएटहार्ड ने कहा, ‘हम स्किल इंडिया, डिजिटल इंडिया, क्लीन इंडिया, स्टार्ट-अप इंडिया और स्मार्ट सिटी जैसे प्रोग्राम में भारत के सहयोगी बन सकते हैं।’ स्विट्जरलैंड की राष्ट्रपति डोरिस लॉएटहार्ड ने कहा, ‘स्विट्जरलैंड में मनी लॉन्ड्रिंग को लेकर कड़ा कानून है, हमे खुशी होगी अगर दूसरे देश भी उस कानून का अनुसरण करें।’

स्विटजरलैंड की राष्ट्रपति डोरिस लॉएटहार्ड ने साझा बयान में कहा कि हम भारत-स्विटरजलैंड एक्टीविटी लांच करेंगे। उन्होंने कहा कि हम 30 उद्योग व कारोबार जगत के 30 प्रतिनिधियों के साथ यहां आये हैं। हम हम स्कील इंडिया, डिजीटल इंडिया, क्लीन इंडिया, स्टार्टअप इंडिया और स्मार्ट सिटी परियोजना में भारत के प्रासंगिक व विश्वसनीय हिस्सेदार हैं। गौरतलब है कि स्विट्जरलैंड, भारत के साथ बिजनेस करने वाला का 7वां बड़ा देश है। स्विट्जरलैंड के साथ 2016-17 में कारोबार 18.2 अरब डॉलर रहा। प्रधानमंत्री मोदी ने पिछले साल ही स्विट्जरलैंड की यात्रा की थी। इस दौरान स्विट्जरलैंड ने परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह में भारत की सदस्यता का समर्थन किया था।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>