विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में पीवी सिंधू, प्रणीत और जयराम जीते
By dsp bpl On 23 Aug, 2017 At 01:32 PM | Categorized As खेल | With 0 Comments

ग्लास्गो। ओलंपिक रजत पदक विजेता पीवी सिंधू, बी साई प्रणीत और अजय जयराम ने अच्छा प्रदर्शन जारी रखते हुए विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप के एकल वर्ग में सीधे गेम में जीत दर्ज की। वर्ष 2013 और 2014 में कांस्य पदक जीतने वाली सिंधू ने कोरिया की किम ह्यो मिन को दूसरे दौर के 49 मिनट चले मुकाबले में सीधे गेम में 21-16 21-14 से हराकर महिला एकल के प्री क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई।

कोरिया की खिलाड़ी के खिलाफ पांच मैचों में सिंधू की यह चौथी जीत है जबकि एक बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा है। बाइस साल की सिंधू को पहले दौर में बाई मिली थी। अगले दौर में उन्हें रूस की येवगेनिया कोसेत्सकाया और हांगकांग की 13वीं वरीय चेयुंग नगान यी के बीच होने वाले मैच की विजेता से भिड़ना होगा।सिंगापुर ओपन चैंपियन प्रणीत और 13वें वरीय जयराम भी पुरुष एकल के दूसरे दौर में जगह बनाने में सफल रहे। पंद्रहवें वरीय प्रणीत ने पहले गेम में 5-9 और 14-16 जबकि दूसरे गेम में 10-13 और 15-17 से पिछड़ने के बाद जोरदार वापसी करते हुए हांगकांग के वेई नान को 48 मिनट चले मुकाबले में 21-18 21-17 से हराया। हैदराबाद का यह 25 वर्षीय खिलाड़ी अगले दौर में इंडोनेशिया के एंथोनी सिनिसुका गिनटिंग से भिड़ेगा जो 2014 नानजिंग युवा ओलंपिक और विश्व जनियर चैंपियनशिप में लड़कों के एकल वर्ग का कांस्य पदक विजेता है। गिनटिंग ने पोलैंड के मातेयूज डुबोवस्की को 21-12 21-14 से हराया।

प्रणीत ने कहा, ‘‘मैं कड़े मैच की उम्मीद कर रहा था। मैं अपने खेल में बदलाव किया लेकिन मैच करीबी हो रहा था। उसने कुछ छोटी गलतियां की और मैं जीत गया। मैं खुश हूं कि मैं जीत दर्ज कर पाया। एक और मुश्किल मुकाबला है और मैं जीतने की उम्मीद कर रहा हूं।’’ जयराम ने एकतरफा मुकाबले में आस्ट्रिया के लुका व्रेबर के खिलाफ 21-14 21-12 की आसान जीत दर्ज की। वह अगले दौर में नीदरलैंड के मार्क कालजोव से भिड़ेंगे। सैयद मोदी ग्रां प्री गोल्ड का खिताब जीतने वाली प्रणव जैरी चोपड़ा और एन सिक्की रेड्डी की भारत की शीर्ष मिश्रित युगल जोड़ी ने भारत की प्राजक्ता सावंत और मलेशिया के योगेंद्रन कृष्णन की जोड़ी को सीधे गेम में 21-12 21-19 से हराया।

मिश्रित युगल के अन्य मैचों में हालांकि भारत को निराशा हाथ लगी जब बी सुमित रेड्डी और अश्विनी पोनप्पा तथा सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और मनीषा के की जोड़ियों को शिकस्त का सामना करना पड़ा। सुमित और अश्विनी को कड़ी चुनौती पेश करने के बावजूद वांग यिलयु और हुआंग डोंगपिंग की चीन की 13वीं वरीय जोड़ी के खिलाफ 17-21 21-18 5-21 से हार का सामना करना पड़ा। सात्विकसाईराज और मनीषा की जोड़ी को माथियास क्रिस्टेनसन और सारा थिगेनसन की डेनमार्क की 14वीं वरीय जोड़ी ने 22-2, 21-18 से हराया।अश्विनी हालांकि महिला युगल के अगले दौर में जगह बनाने में सफल रही। उनकी और एन सिक्की रेड्डी की जोड़ी ने इंडोनेशिया की रिरिन एमेलिया और मलेशिया की अन्ना चिक यिक चियोग की जोड़ी को सीधे गेम में 21-15 21-13 से हराया। सात्विकसाईराज को पुरुष युगल में भी हार का सामना करना पड़ा जब उनकी और चिराग शेट्टी की जोड़ी हिरोयुकी एंडो और युको वातानुबे की जापान की जोड़ी से एकतरफा मुकाबले में 8-21 12-21 से हार गई। सिंधू पिछली बार जब किम से भिड़ी थी तो उन्हें 2016 आस्ट्रेलिया ओपन में सीधे गेम में हार का सामना करना पड़ा था।

भारतीय खिलाड़ी ने हालांकि आज तूफानी शुरूआत की और पहले गेम में 8-0 की बढ़त बनाई। किम ने लगातार चार अंक जीते लेकिन इसके बावजूद ब्रेक तक भारतीय खिलाड़ी 11-5 से आगे थी। कोरियाई खिलाड़ी ने स्कोर 8-12 किया लेकिन सिंधू ने 16-10 की बढ़त बना ली जिसे उन्होंने 20-14 तक पहुंचाया। किम ने दो ब्रेक प्वाइंट बचाए लेकिन भारतीय खिलाड़ी ने इसके बाद पहला गेम जीत लिया। दूसरे गेम में भी सिंधू ने अच्छी शुरूआत करते हुए 8-3 की बढ़त बनाई लेकिन कोरियाई खिलाड़ी ने स्कोर 8-10 कर दिया। सिंधू ने इसके बाद मजबूत प्रदर्शन करते हुए स्कोर 19-12 किया और फिर लगातार दो अंक के साथ गेम और मैच जीत लिया। महिला एकल में राष्ट्रीय चैंपियन रितुपर्णा दास भी दूसरे दौर में जगह बनाने में सफल रही जब पहले दौर की उनकी प्रतिद्वंद्वी फिनलैंड की एरी मिकेला पहले गेम में 0-2 से पिछड़ने के बाद मैच से हट गई।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>