भारतीय मूल के पत्रकार को ‘लॉस एंजिलिस टाइम्स’ के संपादक पद से हटाया
By dsp bpl On 22 Aug, 2017 At 01:22 PM | Categorized As विश्व | With 0 Comments

न्यूयार्क। अमेरिकी अखबार ‘लॉस एंजिलिस टाइम्स’ के शीर्ष प्रबंधन में महत्वपूर्ण फेरबदल के तहत भारतीय मूल के एक प्रख्यात पत्रकार को इस प्रतिष्ठान में 28 वर्ष तक अपनी सेवाएं देने के बाद अमेरिकी दैनिक के संपादक पद से हटा दिया गया है। वर्ष 2016 से संपादक और प्रकाशक दोनों के तौर पर सेवा दे रहे दवन महाराज को अन्य वरिष्ठ संपादकों के साथ अखबार से हटाया गया। ‘एलए टाइम्स’ की एक खबर में कहा गया है ‘‘महाराज को प्रबंध संपादक मार्क डूवोइसिन, डिजिटल के लिये उप प्रबंध संपादक मेगन गार्वे और खोजी सहायक प्रबंध संपादक मैट डोइग सहित अन्य कई वरिष्ठ संपादकों के साथ हटाया गया।’’

त्रिनिदाद के रहने वाले महाराज ने वर्ष 1989 में बतौर ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षु, समाचार पत्र के साथ काम शुरू किया था और ऑरेंज काउंटी, लॉस एंजिलिस और पूर्वी अफ्रीका में रिपोर्टर के तौर अपनी सेवाएं भी दीं। बाद में उन्होंने सहायक विदेश संपादक, वाणिज्य संपादक और प्रबंधक संपादक के तौर पर सेवाएं दीं। महाराज ने फोटोग्राफर फ्रैंसिन ओर के साथ मिलकर छह भाग की श्रृंखला ‘लिविंग ऑन पेन्नीज’ की। इस कार्य के लिये उन्हें वर्ष 2005 में एर्नी पाइल अवार्ड फॉर ह्युमन इंटरेस्ट राइटिंग से नवाजा गया और इसके बाद पाठकों ने अफ्रीका में सहायता एजेंसियों को हजारों डॉलर की रकम भी दान की। महाराज के संपादक रहने के दौरान अखबार ने वर्ष 2015 में सैन बर्नार्डिनो में आतंकवादी हमले की ब्रेक्रिंग न्यूज रिपोर्टिंग सहित तीन पुलित्जर पुरस्कार जीते। ‘एलए टाइम्स’ की खबर में महाराज के भेजे ईमेल के हवाले से कहा गया, ‘‘पिछले 28 वर्ष के कार्यकाल के दौरान महान अमेरिकी समाचार कक्ष में सर्वश्रेष्ठ पत्रकारों के साथ काम करना सम्मान की बात है।’’

महाराज ने कहा, ‘‘वे अदम्य हैं और अपने समुदाय की सेवा की खातिर उनकी निरंतर लड़ाई के लिये मैं शुभकामनाएं देता हूं। हमने जो कार्य किया है उस पर हमें गर्व है।’’ फॉक्स में काम कर चुके और याहू के अंतरिम प्रमुख के तौर पर सेवा दे चुके दिग्गज मीडिया कार्यकारी रॉस लेविनसॉन को 135 वर्ष पुराने ‘एलए टाइम्स’ के प्रकाशक एवं मुख्य कार्यकारी के लिये नामित किया गया है। पिछले सप्ताह तक ‘शिकागो सन टाइम्स’ के प्रकाशक एवं संपादक रहे जिम किर्क को अंतरिम संपादक के लिये नामित किया गया है।

प्रतिष्ठान को डिजिटल युग की ओर ले जाने की दिशा में अधिक से अधिक संसाधनों के निवेश की योजना के तहत ‘द टाइम्स’ एवं आठ अन्य अखबारों की मूल कंपनी ट्रॉन्क के मुख्य कार्यकारी जस्टिन सी डियरबॉर्न ने इस कदम की घोषणा की। खबर में कहा गया कि यह फेरबदल महज एक महीने पहले आयी एक जांच रिपोर्ट के बाद किया गया। ‘द टाइम्स’ में प्रकाशित इस रिपोर्ट में यह खुलासा किया गया था कि यूनिवर्सिटी ऑफ सदर्न कैलिफोर्निया (यूएससी) केक स्कूल ऑफ मेडिसिन के पूर्व डीन ने इसके परिसर में एक यौनकर्मी एवं मादक पदार्थ का कारोबार करने वालों के साथ जश्न मनाया था।

परियोजना पर काम कर चुके कुछ रिपोर्टरों ने वरिष्ठ कॉरपोरेट प्रबंधन से संपर्क कर यह चिंता जाहिर की कि महाराज और डूवोइसिन ने यूएससी की नाराजगी के डर से इस खबर में विलंब किया। यूएससी अखबार के वार्षिक ‘फेस्टीवल ऑफ बुक्स’ का आयोजन करता है। रिपोर्ट के अनुसार, महाराज और डूवोइसिन ने इस खबर को लेकर उठाये गये कदमों का बचाव करते हुए कहा था कि संवेदनशील और जटिल लेखों की रिपोर्ट, संपादन और कानूनी समीक्षा में महीनों का समय लगता है।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>