प्रतिभाओं के सपनों को साकार करने में बाधा नहीं बनेगा धनाभाव: सीएम
By dsp bpl On 13 Aug, 2017 At 12:20 PM | Categorized As राजधानी | With 0 Comments

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश की प्रतिभाओं के सपनों को साकार करने में धन के अभाव को बाधा नहीं बनने दिया जाएगा। सरकार द्वारा उच्च शिक्षा के क्षेत्र में प्रतिभाओं के प्रोत्साहन के लिए मुख्यमंत्री मेधावी छात्र योजना और उद्योग एवं व्यापार के क्षेत्र में प्रतिभाओं को सहयोग के लिये मुख्यमंत्री उद्यमी योजनाएं लागू की है। उन्होंने उद्योग जगत के लीडरों का आह्वान किया कि वे अपनी क्षमता, दक्षता और अनुभवों का उपयोग प्रदेश के विकास में करें। मुख्यमंत्री ने यह बातें शनिवार शाम को फेडरेशन ऑफ मप्र चेम्बर ऑफ कॉमर्स एण्ड इन्डस्ट्रीज के चौथे एचीवमेंट अवार्ड कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहीं।

सीएम ने कहा कि प्रदेश में विशाल उद्योग आयें, यह अत्यंत अच्छा है लेकिन गांव-गांव में लघु उद्योगों का जाल बिछना जरूरी है। इसके लिए हर पंचायत में उद्योगों की स्थापना के प्रयास होने चाहिए। उन्होंने कहा कि खाद्य प्रसंस्करण, कोल्ड स्टोरेज और भंडार गृहों की स्थापना के क्षेत्र में व्यापक संभावनाएं हैं। इस पर विचार कर उद्योग जगत का नेतृत्व सुझाव दे। न्यू इंडिया के लिये नया मप्र बनाना है। इसके लिए सरकार, उद्योग एवं व्यापार जगत को मिलकर कार्य करना होगा। प्रदेश के विकास के लिए निवेश और लघु उद्योगों को प्रोत्साहित करने के प्रयासों पर कोर टीम बनाकर विचार किया जाना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बिजनेस लीडर टीम मध्यप्रदेश के सदस्य हैं। मुख्यमंत्री ने उनसे कहा कि उद्योग और व्यापार जगत को प्रोत्साहित करने के प्रयासों में सहयोग करें। उन्होंने कहा कि रियल स्टेट ऐसा क्षेत्र है, जिसमें रोजगार सृजन की व्यापक संभावनाएं हैं। शीघ्र ही रियल स्टेट पंचायत आयोजित किये जाने और आगामी माह उद्योग एवं व्यापार जगत को प्रोत्साहित करने पर विचार-विमर्श करने की जानकारी भी दी। मुख्यमंत्री ने एचीवमेंट प्राप्त उद्यमियों को सम्मानित कर शुभकामनाएं दी तथा फेडरेशन की पुस्तिका का विमोचन किया।

उद्योग मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने कहा कि प्रदेश सरकार ने औद्योगिक क्रांति के भागीरथी प्रयास किये हैं। सरकार द्वारा उद्योग जगत को 1500 करोड़ रुपये से अधिक की विभिन्न प्रकार की सहायता और सुविधाएं उपलब्ध करवाई है। उद्योगों के लिए डेढ़ लाख हेक्टेयर भूमि की उपलब्धता सुनिश्चित की है। राज्य की विकास दर 10 प्रतिशत से अधिक रही है। उन्होंने विजेताओं को बधाई दी।

संरक्षक एफएमपीसीसीआई गिरीश अग्रवाल ने कहा कि सरकार के सकारात्मक दृष्टिकोण से शांतिपूर्ण उद्योग संचालन का वातावरण बना है। फेडरेशन के अध्यक्ष डॉ. आरएस गोस्वामी ने बताया कि पुरस्कार विजेताओं की इकाईयों में 37 हजार नौ सौ व्यक्तियों को रोजगार मिला है। उनका सकल उत्पादन एक लाख 17 हजार करोड़ रुपये से अधिक का है। उन्होंने 65 प्रतिशत से अधिक वृद्धि की उपलब्धि अर्जित की है।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>