दूरसंचार कंपनियों से ग्राहक संतुष्ट नहीं : ट्राई
By dsp bpl On 9 Aug, 2017 At 01:42 PM | Categorized As व्यापार | With 0 Comments

दूरसंचार कंपनियां ग्राहक संतुष्टि के लिहाज से बनाये गये पैमाने पर खरा उतरने में असफल रहीं हैं। दूरसंचार क्षेत्र के नियामक ट्राई के एक सर्वेक्षण में यह निष्कर्ष सामने आया है। यह सर्वेक्षण दिल्ली, मध्य प्रदेश और कर्नाटक में किया गया है। सर्वेक्षण की रिपोर्ट के मुताबिक इन सर्किलों में ज्यादातर ग्राहक कंपनियों के कॉल ड्राप के मुद्दे तथा ऐसे ही अन्य प्रमुख मुद्दों के समाधान के प्रयासों से संतुष्ट नहीं हैं। ग्राहकों ने कंपनियों के नेटवर्क सिगनल, डाटा स्पीड, ग्राहक सेवा, समग्र दूरसंचार सेवा के मामले में उनकी दूरसंचार सेवा प्रदाता कंपनी द्वारा किये जा रहे प्रयासों को लेकर असंतोष जाहिर किया।

भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) ने इस रिपोर्ट में कहा है, ‘‘सर्वेक्षण में पाया गया है कि इन तीन दूरसंचार सेवा क्षेत्रों में कोई भी दूरसंचार सेवाप्रदाता कंपनी ग्राहक संतुष्टि के तय पैमाने को हासिल नहीं कर सकी है।’’ नियामक ने सर्वेक्षण के तहत ग्राहकों से उनकी प्रतिक्रिया लेने के लिये स्वत: चयनित नंबरों पर कॉल किया। ट्राई के सर्वेक्षण के मुताबिक ‘‘दिल्ली सेवा क्षेत्र में एयरटेल के लिये जहां ग्राहकों का संतुष्टि स्तर सबसे ऊंचा था वहीं रिलायंस कम्युनिकेशंस के लिये यह सबसे नीचे था।’’

रिपोर्ट के अनुसार एयरटेल को कॉल डॅाप की समस्या को दूर करने के प्रयासों के लिये दिल्ली और मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा संतुष्टि स्कोर प्राप्त हुआ। पोस्ट-पेड बिलिंग सूचना, ग्राहक सेवा, डाटा स्पीड, नेटवर्क सिगनल के मामले में भी एयरटेल को राष्ट्रीय राजधानी में सबसे ज्यादा अंक मिले हैं। रिलायंस जियो को मध्य प्रदेश और कर्नाटक में ग्राहकों ने सबसे अच्छी रेटिंग दी है। सार्वजिनक क्षेत्र की कंपनी एमटीएनएल को दिल्ली में कॉल ड्राप की समस्या के मामले में ग्राहकों का सबसे कम समर्थन मिला है जबकि रिलायंस कम्युनिकेशंस को इस मामले में मध्य प्रदेश और कर्नाटक में ग्राहक संतुष्टि का कमजोर समर्थन मिला है। वहीं टाटा टेलिसविर्सिज को कर्नाटक में काल डॅाप समस्या दूर करने के प्रयासों को लेकर शीर्ष स्थान मिला है। कुल मिलाकर समग्र दूरसंचार सेवाओं के मामले में टाटा को दिल्ली में सबसे अधिक अंक मिले हैं जबकि रिलायंस जियो मध्य प्रदेश और कर्नाटक में सबसे आगे रहा है।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>