सावन का चौथा सोमवार, शिवालयों में उमड़ी भीड़
By dsp bpl On 31 Jul, 2017 At 03:43 PM | Categorized As मध्यप्रदेश, राजधानी | With 0 Comments

इंदौर। मध्य प्रदेश में सावन का चौथा सोमवार धूमधाम से मनाया जा रहा है। अलसुबह से ही शिवालयों में श्रद्धालुओं की भीड़ जुटने लगी थी और यह सिलसिला दोपहर तक जारी रहा। शिवालयों में बम-बम भोले की गूंज के साथ पूजन-अभिषेक किया गया। आज सावन के चौथे सोमवार को विभिन्न मंदिरों पर पूजा अर्चना के साथ भव्य शोभा यात्रा भी निकाली गई।

इंदौर में मनसापूर्ण महादेव की धर्मध्वजा के साथ भव्य सवारी निकाली गई, जो धरावरा से निकलकर आसपास के क्षेत्रों में भ्रमण करेगी। इसके अलावा विद्याधाम मंदिर में भवानी शंकर की शाही सवारी, गुटकेश्वर महादेव मंदिर पर भी शाही सवारी का आयोजन रखा गया है। काटाफोड़ मंदिर पर नयाविराम झांकियां बनाई गई है, जिसमें शिव के विभिन्न रूप बताए गए हैं।

धार रोड स्थित सिद्ध क्षेत्र धरावरा धाम स्थित ख्याम मंशापूर्ण महादेव की शाही सवारी आज निकलेगी। श्रावण मास में मंशापूर्ण महादेव के दर्शनों के लिए क्षेत्र के हजारों लोग पहुंच रहे हैं। अलसुबह से देर रात्रि तक मंदिर परिसर में भक्तों के जत्थे पहुंच रहे हैं। श्रावण सोमवारी को निकलने वाली शाही सवारी में शहर के साथ 20 से ज्यादा गांवों के हजारों लोग शामिल हुए।

किला मैदान स्थित प्राचीन गुटकेश्वर महादेव की शाही सवारी आज अपरान्ह 3 बजे होलकर शासनकालीन परंपरा के अनुरूप शाही ठाठ बाट से निकलेगी। यात्रा संयोजक पं. उमाशंकर मिश्रा ने बताया कि किला मैदान पर होलकर राजवंश के कार्यकाल में स्थापित गुटकेश्वर धाम मंदिर से निकलने वाली इस शाही सवारी में भगवान भोलेनाथ अपने भक्तों को दर्शन देंगे।

विमानतल मार्ग स्थित श्री श्री विद्याधाम पर चल रहे श्रावणी अनुष्ठान के अंतर्गत आज सायं 5 बजे भगवान भवानी शंकर की शाही सवारी निकाली जाएगी। आश्रम के 121 विद्वानों द्वारा गत 6 जुलाई से श्रावण मास के उपलक्ष्य में विभिन्न अनुष्ठान चल रहे हैं। आश्रम परिवार के पूनमचंद अग्रवाल, सत्यनारायण शर्मा, पं. दिनेश शर्मा, डॉ. संजय पंडित एवं गोपाल मालू ने बताया कि भोले बाबा की शाही सवारी में सैकड़ों श्रद्धालु सपरिवार शामिल होकर अपने ढंग से आराधना करेंगे।

एक लाख मोतियों एवं रूद्राक्ष से सजेंगे साढ़े 9 फीट के ज्योतिर्लिंग
नवलखा स्थित मनकामेश्वर कांटाफोड़ शिव मंदिर पर आज शाम 7 बजे से एक लाख मोतियों एवं रंगबिरंगे फूलों से श्रृंगारित ज्योतिर्लिंग के दर्शन होंगे। ज्योतिर्लिंग की ऊंचाई साढ़े 9 फीट रहेगी और मोतियों से ही नागराज, त्रिशूल एंव डमरू के साथ भगवान शिव की सुरक्षा करते नजर आएंगे। समूचे परिसर को आकर्षक विद्युत, पुष्प एवं अन्य सामग्री से सजाया गया है। मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष विष्णु बिंदल, संयोजक बी.के. गोयल, अजय खंडेलवाल एवं राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि कोलकाता के प्रसिद्ध रंगकर्मी श्रवण कुमार पूर्व में भी यहां अनेक झांकियां श्रावण माह एवं शिवरात्रि पर बना चुके हैं। अब पहली बार हैदराबादी मोतियों से विशाल ज्योतिर्लिंग, डमरू युक्त त्रिशूल एवं नाग नागिन के जोड़े बनाए गए हैं। यह नयनाभिराम श्रृंगार आम भक्तों के दर्शनार्थ नि:शुल्क खुला रहेगा।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>