रूस ने 755 अमरीकी राजनयिकों से देश छोड़ने को कहा
By dsp bpl On 31 Jul, 2017 At 02:06 PM | Categorized As विश्व | With 0 Comments

माॅस्को। अमरीकी प्रतिबंधों के बाद जवाबी कार्रवाई करते हुए रूसी राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन ने 755 अमरिकी राजनयिकों को रूस छोड़ने को कहा है। यह आधुनिक इतिहास में किसी भी देश से राजनयिकों का सबसे बड़ा निष्कासन है। यह जानकारी सोमवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली।

बीबीसी के अनुसार, पुतिन ने यह भी कहा कि वह निकट भविष्य में दोनों देशों के बीच संबंधों में सुधार के आसार नहीं देख रहे हैं। हालांकि यह फ़ैसला शुक्रवार को ले लिया गया था, लेकिन पुतिन ने संख्या की पुष्टि अब की है जिन्हें एक सितंबर तक रूस छोड़ने को कहा गया है। अब एक सितंबर के बाद रूस में अमरीकी कर्मचारियों की संख्या वाशिंगटन में रूसी राजनयिकों के बराबर 455 हो जाएगी।

विदित हो कि निष्कासित राजनयिकों में रूस में अमरीकी मिशन के लिए काम कर रहे रूसी कर्मचारी भी शामिल हैं। पुतिन के इस फैसले से मॉस्को के साथ ही व्लादिवोस्तोक और सेंट पीटर्सबर्ग स्थित दूतावास के कर्मचारी भी प्रभावित हुए हैं।

उधर, अमरीका ने रूस के इस क़दम को अफ़सोसजनक बताया है। अमरीकी विदेश विभाग के एक अधिकारी ने कहा, “हम इसके प्रभाव का आकलन कर रहे हैं और साथ ही जवाब देने के बारे में भी विचार कर रहे हैं।” पुतिन ने कहा, “1000 से अधिक लोग काम कर रहे थे और अब भी कर रहे हैं, लेकिन इनमें से 755 लोगों को अब रूस में अपनी गतिविधियों को रोकना होगा।” उन्होंने आगे कहा कि वह और क़दम उठा सकते थे, लेकिन अभी वह इसके ख़िलाफ़ हैं।

दोनों देशों के बीच संबंधों के संदर्भ में उन्होंने कहा, “हमने स्थिति बेहतर हो इसके लिए काफ़ी लंबे समय तक इंतज़ार किया। स्थिति बदल भी रही है, लेकिन तुरंत ही इसमें सुधार हो इसकी संभावना कम ही दिखती है।” रूस ने इसके साथ ही अमरीकी राजनयिकों द्वारा इस्तेमाल की जा रही हॉलिडे प्रॉपर्टी और गोदाम को भी वापस लेने की घोषणा की है। उल्लेखनीय है कि वर्तमान अमरिकी प्रतिबंध 2014 में रूस के क्रिमिया पर कब्ज़े और हालिया अमरिकी चुनाव में रूस की दख़लअंदाजी के संबंध में है।

गौरतलब है कि दिसंबर में ओबामा प्रशासन ने हिलेरी क्लिंटन के अभियान के कथित हैकिंग के जवाब में अमरीका में दो रूसी अहाते को अपने कब्ज़े में लेने के साथ ही 35 रूसी राजनयिकों को निष्कासित किया था। ह्वाइट हाउस की आपत्तियों के बावज़ूद रूस पर ताज़ा अमरीकी प्रतिबंधों को कांग्रेस के दोनों सदनों ने अनुमोदन किया था। हालांकि रूस ने इस तरह के किसी भी दख़ल से इंकार करता रहा है और ट्रंप भी लगातार कहते रहे कि कोई मिलीभगत नहीं है।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>