उपमुख्यमंत्री तेजस्वी ने दी महागठबंधन के नेताओं को संयम बरतने की हिदायत
By dsp bpl On 26 Jun, 2017 At 12:33 PM | Categorized As भारत | With 0 Comments

पटना। राष्ट्रपति चुनाव के लिए अलग-अलग उम्मीदवारों का समर्थन करने को लेकर राज्य में सत्तारुढ़ महागठबंधन के साझेदार दल जदयू और राजद के बीच जुबानी जंग छिड़ने पर उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने गठजोड़ के नेताओं को बयान देते समय संयम बरतने की हिदायत दी है। तेजस्वी ने रविवार को कहा, ‘महागठबंधन के नेताओं और कार्यकर्ताओं को कोई बयान देते वक्त संयम बरतना चाहिए।’ राजद प्रमुख लालू प्रसाद के छोटे बेटे तेजस्वी ने जोर देते हुए कहा कि महागठबंधन हिमालय की तरह मजबूत है।

उन्होंने कहा, ‘अब तक, जदयू ने राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद के खिलाफ कोई अपमानजनक बयान नहीं दिया है।’ तेजस्वी का बयान राजद और जदयू नेताओं के आरोप प्रत्यारोप के मद्देनजर आया है। दरअसल, दोनों पार्टियां राष्ट्रपति चुनाव में अलग अलग उम्मीदवारों का समर्थन कर रही हैं। जदयू ने बिहार के पूर्व राज्यपाल और राजग के उम्मीदवार राम नाथ कोविंद का समर्थन किया है, जबिक राजद कांग्रेस नेता, लोकसभा की पूर्व स्पीकर और विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार का समर्थन कर रहा है।

राजद सूत्रों ने कहा कि प्रसाद ने अपनी पार्टी के प्रवक्ता से इस मुद्दे पर गठबंधन साझेदारों के बीच मीडिया में चल रहे भ्रम को दूर करने को कहा है। राजद के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने कहा है कि कोविंद का समर्थन करने का नीतीश कुमार का फैसला एक राष्ट्रव्यापी महागठबंधन बनाने की कोशिश को झटका है। हम उसे (जदयू को) सहन कर रहे हैं और भाजपा को रोकने के लिए उसे बर्दाश्त करते रहेंगे। वहीं, जदयू के प्रदेश प्रमुख बशिष्ट नारायण सिंह ने इस तरह के बयान पर नाराजगी जताते हुए इसे गठबंधन की गरिमा का स्पष्ट उल्लंघन करने वाला बताया। उन्होंने कहा, ‘मैं लालू प्रसाद जी से ऐसे नेताओं को काबू करने का अनुरोध करूंगा।’

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>