Home मध्यप्रदेश लाखों का फल चोइथराम मंडी में बर्बाद, हड़ताल को लेकर असमंजस

लाखों का फल चोइथराम मंडी में बर्बाद, हड़ताल को लेकर असमंजस

80
0

इंदौर। किसानों के आंदोलन के चौथे दिन कल मुख्यमंत्री से बातचीत के बाद किसान संघ ने हड़ताल खत्म करने का ऐलान किया था परंतु आज पांचवें दिन भी चोइथराम सब्जी मंडी सहित अन्य मंडियों में सब्जियां नहीं पहुंची। कुछ ही किसान अपनी सब्जी लेकर आए और वे भी बहुत तेजी से मंडी से निकल गए। आंदोलन 10 जून तक जारी रखने के ऐलान के बाद किसानों ने शहर में आने वाली सब्जी को रोकने के लिए आज भी पुख्ता प्रबंध कर रखे थे जिसके चलते सब्जियां शहर में नहीं पहुंच पाई। वहीं चोइथराम मंडी में रखे फल अब पूरी तरह बर्बाद हो गए है। यहां रखे अनानास, आम, पपीता अब गलने लगा है जो आज शाम तक पूरी तरह खत्म हो जाएगा। इससे व्यापारियों को लगभग 60 लाख रुपए से अधिक का नुकसान उठाना पड़ेगा।

किसान आंदोलन के पांचवें दिन भी शहर में सब्जी और अन्य सामान नहीं पहुंच पाए। किसानों को अपनी उपज का उचित मूल्य नहीं मिलने के कारण यह कदम उठाया था जिसके चलते शहर में हाहाकार मच गया। आज जहां दूध को लेकर हालात सामान्य हुए हैं वहीं सब्जियों की हालत आज भी ठीक नहीं रही।

चोइथराम मंडी में सुबह 5-7 दुकानें ही खुली जिनमें सब्जियां मामूली स्तर पर उपलब्ध थी। वहीं यही स्थिति राजकुमार मिल की सब्जी मंडी में भी देखने को मिली। शहर के बाहरी क्षेत्रों में लगने वाली सब्जी मंडियों में आज सब्जी नहीं पहुंच पाई। हड़ताल के चलते बड़ी तादाद में खराब हो रहे आलू, प्याज लोगों ने सडक़ों पर ही छोड़ दिए। वहीं चोइथराम मंडी में रखा आलू, प्याज भी पूरी तरह से गंध मार रहा है। पंजाब से आया तरबूज भी अब सड़ चुका है। तेज गर्मी के चलते चोइथराम मंडी में रखे आम के अलावा अनानास और पपीता एवं अन्य फल सड़ने शुरू हो गए हैं।

व्यापारी अपने प्रयास के बाद भी यहां से फल नहीं निकाल पाए। इधर राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ और किसान सेना ने अपनी मांगें पूरी नहीं होने तक आंदोलन जारी रखने का निर्णय लिया है। अब किसानों ने भी सब्जी शहर में नहीं लाने का मन बना लिया है। किसानों की तैयारियों को देखते हुए नहीं लगता कि 10 जून के पहले अब बाजार में सब्जियां उपलब्ध हो पाएंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here