Home विश्व मोसुल में आम लोग संकट में : संयुक्त राष्ट्र

मोसुल में आम लोग संकट में : संयुक्त राष्ट्र

30
0

मोसुल। मोसुल शहर पर इराक़ी सेना के हमले आख़िरी चरण में पहुंचने के साथ आम लोगों की जिंदगी खतरे में पड़ गई है। इराक़ में संयुक्त राष्ट्र (यूएन) की शीर्ष अधिकारी ने ये बातें कहीं। इराक़ में संयुक्त राष्ट्र मानवीय राहत की संयोजिका लीज़ ग्रांडे ने बीबीसी से कहा कि कथित इस्लामिक स्टेट सीधे परिवारों को नुकसान पहुंचा रहा है, इसलिए यहां के निवासी गंभीर संकट में हैं। शहर में लोग पानी और बिजली के भारी किललत से जूझ रहे हैं।

लेकिन इराकी सेना का कहना है कि इस्लामिक स्टेट के खिलाफ नए हमले में उन्हें महत्वपूर्ण सफलता मिली है। उनका कहना है कि पुराने मोसुल शहर में बचे हुए चरमपंथी गढ़ों को मुक्त कराने की कोशिशों में वह आगे बढ़े हैं। पिछले साल अक्टूबर में मोसुल को कथित इस्लामिक स्टेट के चंगुल से छुड़ाने की लड़ाई शुरू हुई थी और तब से लाखों लोग यह शहर छोड़कर जा चुके हैं।

लीज़ ग्रांडे ने कहा कि हमले का अगला चरण सबसे मुश्किल होने वाला है, क्योंकि इस पूरे अभियान में आम नागरिक सबसे ज़्यादा ख़तरे में रहने वाले हैं। उन्होंने कहा, “ हम जानते हैं कि परिवार यहां से भागने की कोशिश कर रहे हैं और आईएसआईएस (आईएस) उन्हें सीधे निशाना बना रहा है।” उन्होंने आगे कहा, “सारे सबूत इस ओर इशारा करते हैं कि इन इलाक़ों में फंस गए लोग गंभीर ख़तरे में हैं।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here