बैंकों में हड़ताल, निजी क्षेत्र की बैंकें भी कर रही समर्थन
By dsp bpl On 28 Feb, 2017 At 01:27 PM | Categorized As मध्यप्रदेश, राजधानी | With 0 Comments

भोपाल/इंदौर। बैंकों में आज हड़ताल हो गई। सरकारी कर्मचारियों ने विभिन्न मांगों को लेकर काम नहीं किया। शहर में लगभग 300 बैंकें नहीं खुली और दो हजार करोड़ का ट्रांजेक्शन नहीं हुआ। उद्योगपतियों और व्यापारियों को इसका सबसे ज्यादा नुकसान उठाना पड़ा। नोटबंदी के बाद कर्मचारियों ने अतिरिक्त कार्य के लिए भत्ता भी मांगा हैं। हड़ताल में निजी बैंकों का भी समर्थन प्राप्त हैं।

पिछले वर्ष सरकार ने आठ नवम्बर को 500 और 1000 के नोट बंद कर दिए थे। जिसके बाद बैंकों में नोट बदलने और जमा करने की भारी भीड़ उमड़ पड़ी। दो महीने तक बैंकों के अधिकारियों और कर्मचारियों ने अतिरिक्त काम भी किया। अब बैंककर्मी इस काम के बदले भत्ते की मांग कर रहे हैं। इसी संबंध में आज एसबीआई सहित सभी राष्ट्रीय बैंकों में हड़ताल कर दी गई। हड़ताल में निजी बैंकों का भी समर्थन है। यूनाइटेड फोरम आफ बैंक यूनियन की अगुवाई में ये हड़ताल चल रही है। भत्ते के अलावा वेतन, बैंकों में सुधार जैसे कई मामले शामिल हैं।

आज सुबह सीतलामाता बाजार स्थित पंजाब नेशनल बैंक शाखा से यशवंत निवास रोड स्थित एसबीआई की शाखा तक बैंक अधिकारियों और कर्मचारियों ने रैली निकाली। कर्मचारी शासन से मांगों को लेकर नारे लगा रहे थे। इंदौर में सभी शासकीय और निजी बैंकों में लगभग दो हजार करोड़ का लेनदेन आज प्रभावित रहा। जिन लोगों ने बैंकों में चेक डाले, वे आज क्लियर नहीं हो सकेंगे। व्यापारियों और उद्योगपतियों को इस हड़ताल से सबसे ज्यादा नुकसान हुआ। बैंककर्मी पहले भी अपनी मांगों को लेकर हड़ताल करते आए हैं। लेकिन सरकार समय पर कर्मचारियों को सुविधाएं नहीं देती है, जिससे हड़ताल फिर हो जाती है और हर वर्ग का आदमी बैंकों की हड़ताल से परेशान होता है।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>