गुरमेहर मामले में राजनीतिक दलों का ट्वीटर वॉर
By dsp bpl On 28 Feb, 2017 At 04:51 PM | Categorized As भारत | With 0 Comments

नई दिल्ली। दिल्ली विश्वविद्यालय की छात्रा गुरमेहर कौर द्वारा सोशल मीडिया पर शुरू किये गये कैंपेन के बाद इस पर लगातार विवाद हो रहा है। विवाद के बढ़ने के बाद कई जानी-मानी हस्तियों के साथ-साथ राजनीतिक दल भी इस मुद्दे पर ट्वीटर वॉर में कूद गये हैं। गुरमेहर कौर के समर्थन में खुलकर आये कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी के ट्वीट, ‘डर की तानाशाही के खिलाफ हम अपने छात्रों के साथ हैं। गुस्‍से, असहिष्‍णुता और ज़हालत में उठी हर आवाज के लिए एक गुरमेहर कौर होगी।’ इसके बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा अब अपराधियों और गुंडों की पार्टी बन गई है। ये ख़ुद राष्ट्रविरोधी नारे लगवाते हैं, नारे लगाने वाले भाग जाते हैं और फिर दूसरों को पीटते हैं।

कहीं भी नारे लगाने वाले पकड़े क्यों नहीं गए। इसके साथ ही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने ट्वीट कर कहा, ‘गुरमेहर कौर को असहिष्णु मानसिकता का शिकार बनाया जा रहा है। उसकी देशभक्ति पर सवाल उठाये जा रहे है जोकि लोकतंत्र का ह्रास है। हमने भारत में यह सपना तो नहीं देखा था।’ वहीं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा ने भी इस मुद्दे पर ट्वीट कर कहा,’मैं आपके साथ हूं और जो भी लोग अपने अधिकारों और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के पक्ष में हैं, मैं उन सभी के साथ हूं। राष्ट्र को आप पर गर्व है कि आप फासीवादी ताकतों से लड़ रही हैं।’

कांग्रेस के गुरमेहर के पक्ष में उतर आने के बाद इस मसले पर भाजपा और कांग्रेस नेताओं के बीच तीखी बयानबाजी होनी शुरू हो गई है। राहुल पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री कार्य़ालय में राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा, ‘राहुल गांधी को यह साफ करना चाहिए कि क्या वह और उनका पार्टी नेतृत्व उनके कुछ सहयोगियों द्वारा दिए गए बयान का समर्थन करते हैं?’ दूसरी ओर पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने इस मुद्दे पर ट्वीट किया तो अब इस लड़ाई में पहलवान योगेश्वर दत्त भी कूद गये हैं। कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग पर निशाना साधते हुए कहा है कि राजनीतिक मंशा होना सभी का हक हो सकता है लेकिन इस बार सहवाग बॉल को ठीक तरीके से नहीं पढ़ पाये और हिटविकेट हो गये।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>