Home भारत सपा-कांग्रेस मौसेरे भाई इसलिए हुआ गठबंधन: मोदी

सपा-कांग्रेस मौसेरे भाई इसलिए हुआ गठबंधन: मोदी

53
0

उरई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सपा, बसपा और कांग्रेस को एक ही थैली के चट्टे- बट्टे बताते हुए कहा कि इनका चक्कर छोड़ने पर ही बुंदेलखंड की बदहाली दूर हो सकती है। उन्होने कहा कि सपा कांग्रेस में गठबंधन स्वाभाविक है क्योंकि दोनों पार्टियों में मौसेरे भाई का रिश्ता है। प्रधानमंत्री सोमवार को सुबह खजुराहो एयर पोर्ट से हेलिकॉप्टर द्वारा 11 बज कर 50 मिनट पर यहाँ पहुँचे। उरई में मैकनिक नगर में बनाये गए सभा मैदान में उन्होने उरई के अलावा राठ, कालपी और माधौगढ़ के भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में बड़ी तादाद में जमा भीड़ को 1 घंटे से अधिक समय तक संबोधित किया।

उन्होने कहा कि 1986 में तत्कालीन प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी ने बांदा में ग्लास फैक्ट्री का शिलान्यास किया था। 30 वर्ष हो गए वहाँ के लोग अभी तक इस फैक्ट्री के लगने का इंतजार कर रहे हैं, ठीक वैसे ही जैसे अभी मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बिना चले लखनऊ में मेट्रो का उद्घाटन कर दिया। कांग्रेस और समाजवादी पार्टी दोनों को जनता के साथ इसी तरह से सब्जबाग दिखाकर खिलवाड़ करने में महारथ हासिल है। उन्होने बसपा सुप्रीमो मायावती पर जोरदार छींटाकशी की। उन्होने कहा कि उनके कारनामों के चलते बहुजन समाज पार्टी का नाम बदल कर बहनजी संपत्ति पार्टी हो गया है। उन्होने बुंदेलखंड के लोगों की दुखती राग को छूते हुए कहा कि अवैध खनन की वजह से यहाँ बहुत नुकसान हुआ है।

प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद सेटेलाइट से खनन की निगरानी की फ़ुल प्रूफ व्यवस्था की जायेगी। राज्य में पार्टी की सरकार बनने पर पहला फ़ैसला किसानों की कर्ज माफी का होगा। उन्होने कहा कि बुंदेल खंड के लिए स्वतंत्र विकास बोर्ड बनाया जायेगा जिसके कामों की समीक्षा सीधे मुख्यमंत्री कार्यालय में हर सप्ताह होगी। उन्होने कहा कि सपा शासन में प्लाट या मकानों पर जितने अवैध कब्जे हुए हैं सभी खाली करा कर उनके मालिक को वापस कराने और कब्जा करने वालों को जेल भेजने के लिए विशेष प्रकोष्ठ बना कर अभियान चलाया जायेगा।

उन्होने कहा कि नोटबंदी का फ़ैसला भ्रष्टाचार ख़त्म करने के लिए उठाया गया था। सपा और बसपा का नेतृत्व वैसे एक दूसरे को फूटी आँखों नहीं देखता लेकिन इस मुद्दे पर ये दोनों और साथ में कांग्रेस एक सुर से बोलने लगे थे। यह जाहिर करता है कि उनका तीर सही निशाने पर लगा। उन्होने कहा कि चाहे जितना विरोध हो चाहे जितनी साजिश हो वे गरीबों को हक दिलाने के संकल्प से पीछे नहीं हटेंगे। मोदी ने कटाक्ष किया कि उनको गरीबी समझने के लिए झुग्गी झोपड़ी का टूर करने की जरूरत नहीं है। गरीबी का दर्द उनके रग-रग में बसा है क्योंकि उनकी पैदाइश और परवरिश घनघोर गरीबी में हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here