जुमलों की सरकार ने तोड़ी देश की आर्थिक रीढ़: आनंद शर्मा
By dsp bpl On 10 Feb, 2017 At 02:21 PM | Categorized As भारत | With 0 Comments

देहरादून । मोदी सरकार जुमलों की सरकार है। इसके नोटबंदी के अदूरदर्शी फैसले से देश की आर्थिक रीढ़ टूट गई है । एक साल में दो करोड़ रोजगार देने के वादे पर सवार हो कर सत्ता तक पहुंची मोदी सरकार ने ढाई साल में लाखों कि संख्या में रोजगार समाप्त किया। यह बिना सोचे समझे बिना तैयारी के लिया गया अदूरदर्शी फैसला था। कहना है पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता आनंद शर्मा का। वे शुक्रवार को एक होटल में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भाजपा सत्ता हथियाने के लिए संविधान का भी इस्तेमाल गलत ढंग से करती है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड की सरकार को अस्थिर करने की कोशिश यहां की जनता का अपमान है।

उन्होंने कहा कि हरीश रावत सरकार ने अपने किये सभी वादे पूरे किये है। शर्मा ने कहा कि नरेंद्र मोदी सपनों की सुनामी में देश पीएम बने। सरकार को बने तीन साल होने को है लेकिन कम की जगह इस सरकार ने केवल वायदे, झुठ और जुमले का इस्तेमाल किया। पीएम को भारीभरकम शब्दों के इस्तेमाल का शौक है। उन्होंने फाइव टी का बात की तो ट्रेवल, ट्रेड इस तरह के अन्य तीन शब्द और मोदी के जुमले है। उन्होंने कहा कि दो साल में दो करोड़ रोजगार देने की बात की थी मोदी ने अब तक पांच करोड़ लोगो को रोजगार मिलने चाहिए था। लेकिन इसके उलट देश में लाखों की संख्या में रोजगार समाप्त हुए है।

आनंद शर्मा ने कहा कि मोदी की नीतियों के चलते देश की रीढ़ टूट गई है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के बाद देश में रोजगार,व्यवसाय सभी क्षेत्र में भरी गिरावट आई है। उन्होंनेे कहा कि ये सरकार सिर्फ विज्ञापनों की सरकार है। 86.04 फीसदी पैसों को इस सरकार ने रद्द कर दिया। उसकी एवज में मात्र 15 लाख करोड़ रुपये जारी किया यह मोदी सरकार की सबसे बड़ी नाकामी का उदाहरण है। उन्होंने कहा कि जिस तर्क के आधार पर पीएम ने नोटबंदी को सही ठहराने की कोशिश की वह सब झूठे हो गए है। उन्होंने कहा कि ना तो देश में आतंकवाद,नक्सलवाद,नकली करेंसी बंद हुए न ही कालाधन में कोई कमी आई है इसके चलते देश की आम जनता को असहनीय कष्ठ उठाने पड़े। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के इस अदूरदर्शी फैसले बे देश की आर्थिक रीढ़ लघु बचत को बहुत हानि की है । इस फैसले ने दुनिया में भारतीय रिजर्व बैंक की शाखों समाप्त किया है। कांग्रेस ने कहा कि पीएम को बताना चाहिए कि इस फैसले से देश की बैंकों में कितना कला धन आया। उन्होंने केंद्र सरकार पर कांग्रेस शासित राज्यों हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के साथ भेदभाव का आरोप लगाया। इस दौरान उनके साथ प्रदेश प्रवक्ता मथुरादत्त जोशी,पर्यवेक्षक जीएस बाली,राजीव जैन,राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव त्यागी ,लालचंद आदि नेता भी उपस्थित रहे।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>