Home मध्यप्रदेश मध्यप्रदेश में फिर से बिजली दरों में वृद्धि की तैयारी

मध्यप्रदेश में फिर से बिजली दरों में वृद्धि की तैयारी

38
0

भोपाल/इंदौर। मध्यप्रदेश विद्युत मंडल द्वारा अप्रैल माह तक बिजली की दरों में वृद्धि करने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए विद्युत नियामक आयोग को जो प्रस्ताव बनाकर भेजा गया है उसमें अभी तीनों ही क्षेत्र से कंपनी को 27545 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हो रहा है। जबकि कुल राजस्व 32073 करोड़ रुपये करने की आवश्यकता है और मंडल ने जो अंतर निकाला है वह 4528 करोड़ रुपये का है। यदि दर वी जाती है तो 30470 करोड़ रुपये का राजस्व विद्युत मंडल को प्राप्त होगा लेकिन उसके बाद भी 1603 करोड़ का घाटा रहेगा।

मंडल ने जो प्रस्ताव बनाकर भेजा है उसमें घरेलू बिजली के दाम 10.65 प्रतिशत तक गैर घरेलू 10.28 नगर निगम द्वारा किए जा रहे जल प्रदाय व सडक़ों की लाइटिंग के लिए 11.26 प्रतिशत निम्न दाब वाले उद्योगों के लिए 6.8 प्रतिशत, कृषि के लिए 11.95 प्रतिशत एवं शॉपिंग मॉल के लिए 10 प्रतिशत बिजली दर बढ़ाने का प्रस्ताव भेजा गया है। वर्तमान में विद्युत मंडल को पूर्वी क्षेत्र से 8376 करोड़ रुपये, मध्य क्षेत्र से 9114 करोड़ एवं पश्चिम क्षेत्र से 10054 करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हो रहा है। इस हिसाब से कुल 27545 करोड़ रुपये का राजस्व मिल रहा है। जबकि मंडल को पूर्वी क्षेत्र से 9950, मध्य से 10586 एवं पश्चिम क्षेत्र से 11537 करोड़ रुपये सहित कुल 32073 राजस्व की आवश्यकता है। पूर्वी क्षेत्र में 1574, मध्य में 1472 एवं पश्चिम में 1483 सहित 4528 करोड़ रुपये का घाटा हो रहा है। अगर दर वृद्धि होती है तो मंडल को 9251 पूर्वी क्षेत्र से, 10087 मध्य से एवं 11132 करोड़ पश्चिम क्षेत्र से मिलेगा। इस हिसाब से 30470 करोड़ रुपये मंडल को प्राप्त होंगे लेकिन उसके बाद भी विद्युत मंडल को 1603 करोड़ रुपये का घाटा रहेगा जिसमें पूर्वी क्षेत्र से 699, मध्य से 499 एवं पश्चिम क्षेत्र से 405 करोड़ रुपये का घाटा विद्युत मंडल को उठाना पड़ेगा इसलिए मंडल ने दर वृद्धि का प्रस्ताव नियामक आयोग को भेजा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here