Home राजधानी दलहन उत्‍पादन में मध्‍यप्रदेश अग्रणी राज्‍य : एसोचेम

दलहन उत्‍पादन में मध्‍यप्रदेश अग्रणी राज्‍य : एसोचेम

36
0

भोपाल। नई दिल्ली खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय भारत सरकार नई दिल्ली एवं राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय, ग्वालियर, द्वारा संयुक्त रूप से विश्वविद्यालय में 30 जनवरी , को ‘एग्री एण्ड फूड प्रोसेसर्स कोन्क्लेव’ वित्त, तकनीकी एवं बाजार विषय पर एक दिवसीय बैठक का आयोजन किया गया। इस अवसर पर सभी अतिथियों द्वारा अपने विभाग से संबंधित विस्तृत जानकारी के साथ-साथ बहुमूल्य सुझाव दिए गए।

अपने मुख्य अतिथिय भाषण में कुलपति प्रो. अनिल कुमार सिंह ने आज के आधुनिक परिदृश्य में कृषकों की आय बढ़ाने में खाद्य प्रसंस्करण एवं मूल्य संवर्धन की भूमिका पर प्रकाश डाला तथा कृषकों को खाद्य एवं प्रसंस्करण उद्योगों से जुड़ने की सलाह दी। आपके द्वारा जानकारी दी गई कि सोयाबीन उत्पादन के कारण मध्यप्रदेश सोया प्रदेश के नाम से भी जाना जाता है इसी के साथ दलहन उत्पादन में भी मध्यप्रदेश अग्रणी है जो कि न्यूट्रीशनल सिक्योरिटी में एक अहम भूमिका निभा रहा है। मध्य प्रदेश शासन द्वारा खाद्य प्रसंस्करण एवं मूल्य संवर्धन पर विशेष जोर दिया जा रहा है।

यही कारण है कि मध्य प्रदेश देश का प्रथम राज्य है जिसके द्वारा आर्थिक विकास का रोड मेप तैयार करते हुये भारत सरकार के ”मेक इन इंडिया” कार्यक्रम की तर्ज पर ‘मेक इन मध्य प्रदेश’ कार्यक्रम की शुरूआत की गई। उक्त बैठक में तकनीकी सत्र का भी आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता डॉ. सुरेश सिंह तोमर, अधिष्ठाता कृषि संकाय, रा.वि.सिं.कृ.वि.वि., ग्वालियर ने की। इस बैठक में लगभग 200 से अधिक खाद्य प्रसंस्करण एवं तकनीकी, कृषि एवं उद्यानिकी विकास, बैंकिंग, नाबार्ड, म.प्र. चेम्बर ऑफ कॉमर्स एवं इण्डस्ट्री, खाद्य भंडारण चेन से जुड़ी संस्थाओं, विभागों एवं उद्यमियों, वैज्ञानिक, प्राध्यापक, छात्रो एवं कृषकों ने भागीदारी सुनिश्चित की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here