Home भारत कांग्रेस-सपा गठबंधन, युवा अखिलेश को मौका देने का वक्त : शीला

कांग्रेस-सपा गठबंधन, युवा अखिलेश को मौका देने का वक्त : शीला

38
0

नई दिल्ली। उत्तर-प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन के ऐलान के बाद कांग्रेस की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार शीला दीक्षित इस उम्मीदवारी से अपना नाम वापस ले रही हैं। हालांकि इससे पहले दोनों पार्टियों में गठबंधन की सुगबुगाहट के दौरान भी शीला दीक्षित ने कहा था, ‘मैं अपना नाम सीएम के तौर पर वापस लेती हूं क्योंकि दो नामों के साथ चुनाव नहीं लड़ा जा सकता है।’

शीला दीक्षित पहले भी कह चुकी हैं कि अखिलेश यादव उनके मुकाबले बेहतर मुख्यमंत्री उम्मीदवार हैं। गठबंधन से पहले ही उन्होंने कहा था कि अखिलेश के लिए वे अपना नाम वापस लेना ज्यादा बेहतर समझती हैं। शीला ने गठबंधन के ऐलान के बाद एक बार फिर कहा कि अब वक्त आ गया है कि देश को युवा हाथों में सौंप दिया जाए। उन्होंने कहा, ‘मैं अपना नाम सीएम के तौर पर वापस लेती हूं क्योंकि दो नामों के साथ चुनाव नहीं लड़ा जा सकता है।’ इससे पहले रविवार को दोनों पार्टियों ने आधिकारिक तौर पर साझा प्रेसवार्ता करके इसकी घोषणा की। कांग्रेस 105 सीटों पर चुनाव लड़ेगी, जबकि कुल 403 विधानसभा सीटों में से अब सपा 298 सीटों पर ही उम्मीदवार उतारेगी। रविवार शाम सपा के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने संयुक्त रूप से इस गठबंधन का ऐलान किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here