Home मध्यप्रदेश लापरवाही के चलते एक्सपायर हुआ दवाओं का स्टाक, स्टोर प्रभारी निलंबित

लापरवाही के चलते एक्सपायर हुआ दवाओं का स्टाक, स्टोर प्रभारी निलंबित

37
0

भिण्ड। अस्पताल में इलाज के लिए आने वाले मरीजों को दी जाने वाली जीवन रक्षक दवाएं जरूरतमंदों को देने के बजाए इन दिनों नालों में फेंकी जा रही है। यह मामला भोपाल से आई गुणवत्ता नियंत्रक टीम व जिलाधीश के निरीक्षण में सामने आया, जिसमें अस्पताल के ड्रग स्टोर में बड़े पैमाने पर एक्सपायरी दवाओं का स्टाक मिला। जिसके बारे में अस्पताल प्रबंधन कोई संतोष जनक जबाव नहीं दे पाया। मामले की गंभीरता को देखते हुए जिलाधीश ने जांच टीम गठित करते हुए स्टोर प्रभारी वीके गौड़ को निलंबित कर दिया है।

ज्ञात हो कि अस्पताल में मरीजों के इलाज के लिए मुफ्त वितरित की जाने वाली दवाएं प्रबंधन की लापरवाही के चलते बर्वाद हो रही हैं। मंगलवार को भोपाल से ड्रग विभाग के उप प्रबंधक हिमांशू त्रिपाठी और गुणवत्ता सलाहकार सोमनाथ की टीम यहां दवाओं की जांच करने पहुंची। इस बीच जिलाधीश डॉ. इलैया राजा टी भी मौके पर पहुंच गए। ड्रग स्टोर में पहुंची टीम को यहां एक्सपायरी डेट दवाओं का बड़ा स्टाक मिला। इस पर जब टीम ने स्टोर इंचार्ज वीके गौड़ से जानकारी ली तो वह संतोष जनक जबाव नहीं दे पाए। इस पर जिलाधीश ने स्टोर प्रभारी को कड़ी फटकार लगाते हुए लापरवाही के लिए दंडित किए जाने की बात कही।
नाले में मिलीं दवाएं

अस्पताल में जांच करने पहुंची ड्रग टीम ने स्टोर का निरीक्षण करने के बाद उन्होंने शिकायत के बाद ड्रग स्टोर के पास बने नाले को निरीक्षण किया। इस दौरान यहां बड़ी मात्रा में सरकारी दवाओं का स्टाक कीचड़ में पड़ा मिला। जब टीम ने यहां देखा तो मरीजों के इलाज में काम आने वाली दवाएं एक्सपायर होने के बाद नाले में मिली। इस लापरवाही पर जिलाधीश ने सिविल सर्जन केके दीक्षित को फटकार लगाते हुए दोषी कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए। जिसके बाद मामले में देर शाम दोषी ड्रग स्टोर प्रभारी वीके गौड़ को निलंबित करने के आदेश जारी कर दिए गए। इसके अलावा जिलाधीश ने इस गंभीर लापरवाही की जांच के लिए संयुक्त जिलाधीश अनुज कुमार रोहतगी सहित तीन संयुक्त जिलाधीशों को मामले की जांच सौंप दी है।
इनका कहना है।

गुणवत्ता नियंत्रक स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिला अस्पताल का निरीक्षण किया गया, जिसमें ड्रग स्टोर में एक्सपायरी दवाएं मिलीं और नाले में भी बड़ी मात्रा में दवाएं पड़ी मिली हंै। मामले की जांच तीन सदस्यी टीम को सौंप दी है। इसके अलावा दोषी पाए गए स्टोर प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है।
डॉ. इलैया राजा टी, जिलाधीश भिण्ड

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here