Home मध्यप्रदेश नसबंदी आपरेशन के बाद महिला की मौत, परिजनों ने किया हंगामा

नसबंदी आपरेशन के बाद महिला की मौत, परिजनों ने किया हंगामा

62
0

भिण्ड। जिला चिकित्सालय में नसबंदी का आपरेशन कराने आई महिला की इलाज के बाद मौत हो गई। इस घटना के बाद मृतका के परिजनों द्वारा हंगामा करते हुए अस्पताल में तैनात चिकित्सकों पर लापरवाही से इलाज करने का आरोप लगाया। इसके बाद उन्होंने नारेबाजी करते हुए अस्पताल के बाहर जाम लगा दिया। मामले की सूचना मिलने पर थाना पुलिस सहित एसडीएम ने मौके पर पहुंच कर हंगामा शांत कराया। इसके बाद अस्पताल प्रबंधन ने मृतका के परिजनों को रेडक्रास से तुरंत 50 हजार की आर्थिक सहायता दी। इस घटना के बाद कांग्रेस के जिलाध्यक्ष डॉ. रमेश दुबे, जिला उपाध्यक्ष डॉ. राधेश्याम शर्मा, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष संजीव सिंह कुशवाह संजू भी पीडि़त परिवार से मिलने अस्पताल पहुंचे।

दबोहा गांव निवासी मुकेश जाटव अपनी पत्नी मिथलेश जाटव उम्र 25 वर्ष को नसबंदी आपरेशन कराने के लिए जिला अस्पताल लाया। यहां दोपहर 1.30 बजे के करीब डॉ. हिमांशु बंसल द्वारा महिला की नसबंदी का आपरेशन किया गया, जिसके आधा घण्टे बाद उसकी हालत बिगडऩे लगी। जिसके कुछ देर बाद महिला की मौत हो गई। इस घटना की जानकारी होने पर परिजनों द्वारा हंगामा शुरू कर दिया गया। परिजनों ने महिला की मौत के लिए आपरेशन करने वाले चिकित्सक पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए अस्पताल के बाहर जाम लगा दिया। अस्पताल में हुई इस घटना की जानकारी होने पर शहर थाना निरीक्षक शैलेन्द्र सिंह कुशवाह के अलावा एसडीएम संतोष तिवारी मौके पर पहुंचे, जिन्होंने परिजनों को शांत कराते हुए जाम खुलावाया। इस बीच अस्पताल प्रबंधन ने मृतक महिला के परिजनों को रेडक्रास की ओर से 50 हजार रुपए की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की।
अंत:परीक्षण रिपोर्ट में होगा खुलासा

अस्पताल में इलाज के दौरान महिला की मौत होने पर प्रबंधन व चिकित्सक कटघरे में खड़ा हो गया है। इस मामले में सिविल सर्जन केके दीक्षित ने बताया कि महिला की मौत किन कारणों से हुई इसकी जानकारी के लिए अंत:परीक्षण रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है। अंत:परीक्षण के लिए अस्पताल प्रबंधन ने चित्रा महेश्वरी, डॉ. विनोद वाजपेयी, डॉ. रश्मी गुप्ता, डॉ. अनिल गोयल की चार सदस्यी टीम को जिम्मेदारी सौंपी है।

इनका कहना है।
मेरी बहू नसबंदी आपरेशन के लिए यहां आई थी, लेकिन चिकित्सकों की लापरवाही के चलते उसकी मौत हो गई। यहां मरीजों की जान के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है, जिसमें दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।
विजय राम जाटव, मृतका का ससुर

महिला की नसबंदी आपरेशन के बाद अचानक मौत हो गई, जिसके कारणों का पता अंत:परीक्षण रिपोर्ट के बाद ही पता चल सकेगा। फिलहाल पीडि़त परिवार को आर्थिक सहायता दी गई है।
केके दीक्षित, सिविल सर्जन, जिला चिकित्सालय भिण्ड

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here