Home मध्यप्रदेश इंदौर हुआ ओडीएफ घोषित, अधिकारी-कर्मचारियों ने खूब की मेहनत

इंदौर हुआ ओडीएफ घोषित, अधिकारी-कर्मचारियों ने खूब की मेहनत

27
0

इंदौर। मध्यप्रदेश का इंदौर शहर खुले में शौच से मुक्त (ओडीएफ) हो गया है। केन्द्र सरकार ने इसकी घोषणा भी कर दी है। पिछले दिनों स्वच्छ भारत मिशन की टीम ने निरीक्षण किया और इसके आधार पर यह घोषणा हुई। करीब एक वर्ष से शहर में मिशन के तहत काम चल रहा था, जिसमें नगर निगम के 100 से अधिक अधिकारी, सैकड़ों कर्मचारी और सैकड़ों गाडिय़ां लगी थी। छह एनजीओ सहित शहर के कई संगठनों ने भी सफाई अभियान में भागीदारी की।

महापौर, कलेक्टर और कमिश्नर ने भी सुबह 5 बजे उठकर शहर के विभिन्न क्षेत्रों का दौरा किया। कमिश्नर ने तो हर दिन सुबह ही पूरी टीम को लेकर ओडीएफ के लिए कड़ी मेहनत की। करीब एक वर्ष से शहर को खुले में शौच से मुक्त रखने के लिए नगर निगम का पूरा अमला लगा था। इसके रिजल्ट केन्द्र सरकार ने दिया और शहर को ओडीएफ घोषित किया। महापौर मालिनी गौड़ जहां कई बार स्वयं सुबह अधिकारियों के साथ हौसला अफजाई के लिए मैदान में पहुंची। वहीं कलेक्टर पी. नरहरि और कमिश्नर मनीष सिंह ने भी कड़ी मेहनत की। मनीष सिंह तो हर दिन सुबह महीनों से 5 बजे उठकर मैदान में आ जाते थे और अधिकारियों-कर्मचारियों को शहर को साफ स्वच्छ रखने के निर्देश देते थे। महिलाओं, बुजुर्गों, बच्चों से भी वे बात करते थे। शहर के कई चौराहे, सडक़े, बगीचें अब जहां देखने लायक है, वहीं पूरा शहर संभवत: पहली बार इतना साफ और सुन्दर हुआ है।

प्रशासनिक अमला, नगर निगम अमला और जनप्रतिनिधि सहित शहर के सामाजिक संगठन, प्रबुद्धजन बधाई के पात्र है। अब इंतजार इस बात का है कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2017 में शहर को कौन सा नंबर मिलता है। सभी को यही उम्मीद है कि इन्दौर शहर इस सर्वेक्षण में 1 नंबर पर आएगा। कचरा गाडिय़ां दिन-रात सुनाती रही गीत 100 से अधिक अधिकारी, सैकड़ों कर्मचारी जहां दिन-रात सफाई अभियान में लगे थे, वहीं निगम की सैकड़ों गाडिय़ां दिन-रात कचरा उठा रही थी। स्पींग मशीन चौराहों और डिवाइडरों की सफाई कर रही थी। घर-घर से कचरा लेने वाली गाडिय़ां दिन-रात स्वच्छ भारत का इरादा कर लिया हमने…. गीत बजाती रही और महिलाओं, बच्चों, बुजुर्गों, युवाओं के कानों में यह गीत बजता रहा। शहर अब पूरी तरह से साफ और सुन्दर बन गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here