नमामि देवी नर्मदे सेवा यात्रा का 21वां दिन, बिजौरी में होगी भजन संध्या
By dsp bpl On 31 Dec, 2016 At 11:44 AM | Categorized As मध्यप्रदेश | With 0 Comments

जबलपुर। नमामि देवी नर्मदे सेवा यात्रा हजारों श्रद्धालुओं के साथ निरंतर आगे बढ़ रही है। शनिवार को सुबह मां-नर्मदा की पूजा-अर्चना के बाद शहपुरा तहसील के ग्राम बगरई से यात्रा शुरू हुई। जबलपुर जिले में यात्रा का आज छटवां दिन है। नमामि देवी सेवा यात्रा धरमपुरा, नुनपुर और घुघरा होते हुए शाम को बिजौरी पहुंचेगी। बिजौरी में भजन संध्या का आयोजन किया गया है।  भजन संध्या का यह कार्यक्रम शाम 5 बजे से प्रारंभ होगा।

एक अहम् उद्देश्य के साथ आरंभ हुई नर्मदा सेवा यात्रा अपने मकसद से जुड़े ये संदेश ग्रामीण जनों तक पहुँचाते हुए जबलपुर जिले में शहपुरा तहसील के ग्राम बरगई में रात्रि विश्राम के बाद शनिवार को यात्रा के 21वें की शुरुआत हुई। यात्रा के दौरान विचारकों, समाजसेवियों और जनप्रतिनिधियों ने कहा कि नर्मदा सेवा यात्रा आम लोगों को जीवन के संस्कारों से जोड़ रही है। ग्रामीणों को समझाया गया कि संस्कार स्वप्रेरणा से अपने जीवन में उतारे जाते है। लोगों से कहा गया के स्व-इच्छता से ही स्वच्छता होगी, किसी नियम-कानून से नहीं। स्वच्छता का संस्कार हमें खुले में शौच करने से रोकेगा तथा नदियों में पूजन-सामग्री विसर्जित करने की जगह विसर्जन कुंडों का उपयोग करने की प्रेरणा देगी।

यात्रा के दौरान नागरिकों को समझाइश दी जा रही है कि जन और जीवन में सुख, शांति, आनंद, समृद्धि, विकास और खुशहाली के लिए हमें एक बार फिर अपनी देशज परम्पराओं को अपनाना होगा। हमें भारतीय जीवन के उन संस्कारों को अपनी जीवन-चर्या में पुन: शामिल करना होगा, जिन्हें आजकल उपेक्षित किया जाता है।

यात्रा-दल ग्रामवासियों को यह समझाने में सफल हुआ कि हमारे संस्कारों और हमारी आवश्यकताओं में बहुत बारीक लेकिन मजबूत रिश्ता है। ये आपस में गुंथी हुई हैं। वृक्ष हमारे मित्र है। वृक्ष वर्षा का जल संचित करते हैं। वृक्षों के कारण वर्षा होती है। खेती वर्षा पर निर्भर है। श्रमदान से स्वच्छता संभव है तो अच्छी सेहत इसका पुरस्कार है। यात्रा में महामंडेलश्वर स्वामी अखिलेश्वरानंद गिरि जी, बरगी विधायक प्रतिभा सिंह, जिला भाजपा ग्रामीण अध्यक्ष शिव पटेल, शहपुरा जनपद पंचायत अध्यक्ष अभिषेक सिंह और मुख्यकार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत हर्षिका सिंह यात्रा में शामिल हैं।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>