आयकर विभाग ने रेस्टारेन्ट व केटरर्स पर की कार्रवाई
By dsp bpl On 30 Nov, 2016 At 12:21 PM | Categorized As मध्यप्रदेश, राजधानी | With 0 Comments

इंदौर। नोटबंदी के बाद अब आयकर विभाग द्वारा बिल्डरों, बड़े केटरर्स आदि पर सर्वे की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। बुधवार को सुबह रणजीत हनुमान मंदिर रोड पर स्थित एक बड़े केटरर्स के यहां यह कार्रवाई करते हुए अधिकारियों ने बड़ी मात्रा में दस्तावेज व अन्य लेन-देन से संबंधित जानकारी एकत्रित की गई है जिसमें बड़ी कर चोरी होने का अनुमान है। इसके अलावा बीती देर रात विभाग ने आधा दर्जन केटरर्स और रेस्टारेन्ट पर सर्वे की कार्रवाई की। यहां से भी पुराने नोटों के लेन-देन का मामला सामने आया है जिसकी जांच की जा रही है।

आयकर विभाग को यह शिकायत मिल रही थी कि 1000-500 के नोट बंद होने के बाद शहर के बड़े केटरर्स व रेस्टारेन्ट वालों ने पुराने नोटों का लेन-देन जारी कर रखा है। यही नहीं कुछ केटरर्स तो ऐसे है जो 50 प्रतिशत तक बिना बिल के ही व्यापार कर रहे है। उनकी शिकायत आयकर विभाग को मिली जिस पर मंगलवार को देर रात विभाग के अधिकारियों की टीम ने सर्वे की कार्रवाई शुरू की और आधा दर्जन से ज्यादा केटरर्स व रेस्टारेन्ट वालों के यहां छापे मारे।

बुधवार को सुबह भी टीम ने रणजीत हनुमान मंदिर स्थित रिद्धि-सिद्धि केटरर्स पर सर्वे की कार्रवाई की। इस केटरर्स के मालिक का नाम विमल बताया जा रहा है। विभाग ने इन सभी केटरर्स के यहां से लेन-देन से संबंधित सामग्रियों के साथ ही बिल व कम्प्युटर हार्डडिस्क आदि जब्त किए है। बताया जा रहा है कि कार्रवाई के दौरान आयकर विभाग के 100 से अधिक अधिकारी और कर्मचारी शामिल रहे। अब इन केटरर्स व रेस्टारेन्ट वालों के यहां से जब्त दस्तावेजों की जांच की जा रही है जिसमें बड़ी कर चोरी उजागर होने की संभावना है।

शादियों के आयोजनों की जानकारी ली

आयकर विभाग द्वारा देर रात से कई दिग्गज केटर्स के यहां सर्वे की कार्रवाई की गई, जिसमें 7 से अधिक बड़े केटर्स के यहां सर्वे किया गया, जिसमें रिद्धी-सिद्धी, राजरानी, भंडारी एवं लालवत आदि केटर्स से इंदौर में हुई भव्य शादियों के आयोजन एवं उसमें किए गए भुगतान की जानकारी भी ली गई।

विभाग के अधिकारियों ने पिछले दिनों हुई शादियों का ब्योरा मांगने के बाद केटर्स के घर और गोडाउन पर भी छापा मार कार्रवाई की टीम को यहां बड़ी संख्या में शादियों के हुए आयोजन से भी संबंधित दस्तावेज मिले हैं। साथ ही जिन बड़े लोगों ने आयोजन किये हैं। उनकी जानकारी लेने के बाद आयकर आयोजनकर्ताओं से भी टैक्स वसूली करने की तैयारी कर रहा है। सूत्रों का कहना है कि आयकर विभाग बड़े आयोजन कर्ताओं के यहां भी जानकारी जुटाने के बाद सर्वे करने की तैयारी में लग गया है।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>