भारत ने तीसरा टेस्ट आठ विकेट से जीता, श्रृंखला में 2-0 की बढ़त
By dsp bpl On 29 Nov, 2016 At 04:07 PM | Categorized As खेल | With 0 Comments

मोहाली। पांच मैचों की श्रृंखला के तीसरे टेस्ट में भारत ने इंग्लैंड को आठ विकेट से हराकर श्रृंखला में 2-0 की अपराजेय बढ़त ले ली। इंग्लैंड द्वारा दिये गये 103 रनों के लक्ष्य को भारत ने चौथे दिन आठ विकेट के नुकसान पर 104 रन बनाकर हासिल कर लिया। पार्थिव पटेल 67 और विराट कोहली छह रन बनाकर नाबाद रहे। भारत की तरफ से दूसरी पारी में आउट होने वाले बल्लेबाजों में चेतेश्वर पुजारा (25) और मुरली विजय (0) रहे। इंग्लैंड की तरफ से आदिर रशीद और क्रिस वोक्स ने 1-1 विकेट लिया। पहली पारी में इंग्लैंड ने 283 रन बनाये थे| जवाब में भारतीय टीम ने पहली पारी में 417 रन बनाये। चौथे दिन लंच के बाद इंग्लैंड की दूसरी पारी 236 रनों पर सिमट गई।

भारत ने विशाखापत्तनम में दूसरा टेस्ट 246 रनों से जीता था, जबकि राजकोट में खेला गया पहला टेस्ट ड्रा रहा था। तीसरे टेस्ट की दूसरी पारी में भारत के लिए पहले दोनों विकेट आर अश्विन ने लिए। पहले उन्होंने कप्तान एलेस्टर कुक (12) को बोल्ड कर पवेलियन भेजा। इसके बाद मोइन अली (05) को जयंत यादव के हाथों कैच आउट करवाकर उन्होंने दूसरी सफलता दिलाई। जयंत यादव ने भारत के लिए तीसरा विकेट लिया। उन्होंने बेयरस्टो (13) को पार्थिव पटेल के हाथों कैच आउट कराया। अश्विन ने बेन स्टोक्स (5) को एलबीडब्ल्यू आउट किया और ये उनके तीसरे शिकार बने।

चौथे दिन के दूसरे ही ओवर में जडेजा ने बैटी (0) को एलबीडब्ल्यू आउट कर भारत को पांचवीं सफलता दिला दी। इसके बाद जयंत यादव की गेंद पर जडेजा ने मिडऑन पर बटलर (18) का कैच लेकर उन्हें पवेलियन का रास्ता दिखा दिया। इसके बाद जो रूट (78) का जडेजा की गेंद पर स्लिप पर खड़े रहाणे ने बेहतरीन कैच पकड़कर इंग्लैंड को सातवां झटका दे दिया। शमी ने वोक्स (30) को पटेल के हाथों कैच आउट करा कर भारत को आठवीं सफलता दिला दी। इसके एक गेंद बाद ही उमेश यादव ने शमी की गेंद पर कैच लेकर रशीद (0) को पवेलियन की राह दिखा दी। इसके बाद एंडरसन (5) पर जडेजा के बेहतरीन थ्रो के चलते रन आउट हो गए| इसी के साथ इंग्लैंड की दूसरी पारी सिमट गई ।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>