Home लाइफ स्टाइल मलेरिया बन सकता है गर्भपात का कारण

मलेरिया बन सकता है गर्भपात का कारण

49
0

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार मलेरिया गर्भपात का कारण भी बन सकता है। मलेरिया से स्वतःगर्भपात के अलावा समय पूर्व प्रसव,मृत जन्म और माता को रक्त की अत्यधिक कमी हो जाती है और यह कम वजन वाले बच्चों के जन्म में बाधा डालने के लिए भी जिम्मेदार है।

लखनऊ विश्वविद्यालय के पूर्व प्रो. और वैज्ञानिक प्रो.रश्मि राॅय चैधरी ने बताया कि मच्छरों को पैदा होने से रोकने के लिए नीम आधारित कीटनाशक का प्रयोग विशेष लाभकारी होता है।

श्री चैधरी ने कहा कि मलेरिया पर जन जागरूकता की आवश्यकता है जिससे कि मच्छरों के होने वाले रोगों से बचा जा सके। चैधरी शनिवार को राॅय उमानाथ बली प्रेक्षागृह में मलेरिया एक चुनौती एवं निवारण के उपाय विषय पर आयोजित कार्यशाला को संबोधित कर रही थी।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार विश्व की आधी जनसंख्या मलेरिया के खतरे में जी रही है। विश्व में हर वर्ष लगभग 3.4 अरब लोेग मलेरिया के खतरे में जीते हैं। हर वर्ष लगभग 20 करोड़ 70 लाख मलेरिया के रोगी सामने आते हैं जिनमें अनुमानतः छह लाख से अधिक काल के ग्रास बन जाते हैं।जिला मलेरिया अधिकारी एम डी शुक्ल ने कहा कि मलेरिया रोकने के लिए मच्छरों पर रोक लगाना और उन्हें नष्ट करना आवश्यक है।

शुल्क ने कहा कि भारत में पर्याप्त ज्ञान, अनुभव और विषेशज्ञता उपलब्ध है परन्तु अनेक अवरोधों जैसे औषध प्रतिरोधक,कीटनाशक प्रतिरोधक और मलेरिया की गंभीरता के नए प्रतिमानों सहित वास्तविक रोग के ज्ञान की कमी के कारण मलेरिया को नियंत्रित करने में कइिनाई आती है।कार्यशाला को डाक्टर, वैज्ञानिक और शिक्षकों ने भी मलेरिया से बचाव के बारे में जानकारी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here