Home राजधानी भोपाल जेलब्रेक मामला: 300 फोन कॉल पर आकर टिकी पुलिस की जांच

भोपाल जेलब्रेक मामला: 300 फोन कॉल पर आकर टिकी पुलिस की जांच

47
0

jailbreakभोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल की सेंट्रल से दीवाली की रात जेलब्रेक कर सिमी आतंकीयों के फरार होने की जांच कर रही पुलिस की सुई 300 फोन कॉल पर आकर टिक गई हैं। इन नंबरों पर जेलब्रेक के दौरान कॉल आए थे या फिर किए गए थे। जेल और एनकाउंटर स्पॉट की दूरी को ध्यान में रखते हुए पुलिस ने आतंकियों के जेल से वहां तक पहुंचने का रूट मैप तैयार किया हैं। इस रूट के दायरे में आने वाले तमाम लोग पुलिस की जांच में शामिल हैं।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि, आतंकियों के मददगार की तलाश में पुलिस कॉल डिटेल के जरिए भी सुराग तलाशने में जुटी हैं। सायबर फोरेंसिक टीम ने करीब 500 संदिग्ध फोन कॉल को जांच में लिया था। प्रारंभिक जांच के बाद पुलिस ने 300 कॉल को ही जांच में शामिल किया हैं। क्राइम ब्रांच और एसटीएफ की एक संयुक्त टीम इन फोन नंबरों की कॉल डिटेल खंगाल रही हैं। पुलिस का सारा फोकस उन दो संदिग्धों की तलाश पर है, जिन्हें एनकाउंटर के दौरान देखा गया था। पुलिस अब तक उनका सुराग जुटाने में नाकाम रही हैं। स्थानीय पुलिस की एक टीम ने जेल के आसपास बने 60 नए मकान में किराए से रह रहे लोगों से भी पूछताछ की हैं। ऐसे करीब 200 लोगों से बातचीत के बाद भी पुलिस को कोई ठोस सुराग हाथ नहीं लग सका हैं।