व्यक्तिगत हितों के लिए दिल्ली को लूट रहे हैं केजरीवाल: कांग्रेस
By dsp bpl On 29 Oct, 2016 At 04:12 PM | Categorized As भारत | With 0 Comments

चंडीगढ़। अरविंद केजरीवाल द्वारा दूसरे राज्यों में राजनीतिक रैलियां करने हेतु दिल्ली के करदाताओं के पैसों को खर्चने संबंधी रिपोर्टों पर पंजाब कांग्रेस ने शनिवार को मामले की गहराई से जांच किए जाने की मांग की है।

कांग्रेस के नेताओं केवल सिंह ढिल्लों, राणा गुरजीत सिंह व ओ.पी. सोनी ने केजरीवाल व उनकी आम आदमी पार्टी पर अपने व्यक्तिगत हितों की खातिर दिल्ली के लोगों को लूटने का आरोप लगाते हुए कहा है कि एक आर.टी.आई वर्कर द्वारा किए गए हैरानीजनक खुलासे कि राजनीतिक रैलियों के आयोजन के लिए करदाताओं के पैसे इस्तेमाल किए गए, की स्वतंत्र एजेंसियों से जांच करवाए जाने की जरूरत है। आर.टी.आई कार्यकर्ता के मुताबिक केजरीवाल ने बीते 19 महीनों के दौरान बैंगलुरू के दौरे में सर्जरी करवाने के अलावा, चुनावों का सामना कर रहे राज्यों के 23 दौरे किए हैं, जिनके इन दौरों के दौरान सियासी रैलियां आयोजित की गईं। कांग्रेस के नेताओं ने कहा कि ऐसा पहली बार नहीं हुआ कि केजरीवाल को सरकारी पैसों का अपने फायदों व दिल्ली से बाहर अपनी पार्टी का आधार फैलाने के लिए दुरुपयोग करने में शामिल पाया गया है।

प्रदेश कांग्रेस के नेताओं ने खुलासा किया कि साफ-सुथरी छवि का दिखावा करके सत्ता में आने वाले केजरीवाल और उनकी आप ने दिल्ली के लोगों द्वारा मेहनत की कमाई का अपने विशेष सियासी व व्यक्तिगत हितों के लिए इस्तेमाल करते हुए भ्रष्टाचार के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं।

इस क्रम में यह खुलासा इस माह की शुरूआत में दिल्ली सरकार द्वारा अलग-अलग राज्यों के 1.8 करोड़ वोटरों तक पहुंच करने के लिए ऑनलाइन विज्ञापन व सोशल मीडिया (फेसबुक, यूटयूब, गूगल) पर 1.58 करोड़ रुपए खर्चे गए थे। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यह ठेका एक पी.आर कंपनी को बगैर किसी बोली के दिया गया है, जो जानकारी एक निजी शिकायतकर्ता ने सी.बी.आई. के पास भेजी थी। रिपोर्ट का जिक्र करते हुए प्रदेश कांग्रेस के नेताओं ने कहा कि यह इस बात का सबूत है कि आप व्यक्तिगत फायदों के लिए सत्ता का बड़े स्तर पर दुरुपयोग में शामिल है।

केन्द्र सरकार द्वारा सितंबर, 2016 में केजरीवाल को पेश करने हेतु विज्ञापनों पर बहाए गये पैसों की जांच हेतु नियुक्त की केन्द्र सरकार की कमेटी ने दिल्ली की आप सरकार को सरकारी राजस्व को चूना लगाने का आरोपी पाया था, जिसने सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का उल्लंघन किया था। एक अन्य मामले में कैग ने केजरीवाल को दिल्ली से बाहर विज्ञापनों पर 28 करोड़ रुपए बर्बाद करने का आरोपी पाया था।

कांग्रेस के नेताओं ने कहा कि ऐसे बहुत सारे उदाहरण हैं, जहां केजरीवाल के नेतृत्व वाली आप को दिल्ली के करदाताओं के पैसे लूटने का आरोपी पाया गया है, जिनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

प्रदेश कांग्रेस के नेताओं ने कहा कि जहां दिल्ली वासी खुद को ठगा महसूस कर रहे हैं, राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी अपना ज्यादातर वक्त राज्य के राजस्व से पैसे एकत्र करके राज्य से बाहर सियासी गतिविधियों पर खर्च रही है।

इस क्रम में राष्ट्रीय राजधानी के संसाधनों को खाली करने के बाद आप अपने गलत इरादों को आगे बढ़ाने हेतु अब पंजाब पर आंख रखे बैठी है, लेकिन पंजाब के लोग केजरीवाल की इस बेशर्म कोशिश को कामयाब नहीं होने देंगे।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>