प्रदेश सरकार कहे तो यूपी को शत प्रतिशत देंगे बिजली: पीयूष गोयल
By dsp bpl On 20 Oct, 2016 At 06:45 PM | Categorized As भारत | With 0 Comments
1कानपुर। घाटमपुर पावर प्लांट से उत्तर प्रदेश के बहुत से घरों में रोशनी फैलने जा रही है। अगर उत्तर प्रदेश सरकार कहे तो हम इस परियोजना की शत प्रतिशत बिजली देने को तैयार हैं।
यह कहना है केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल का। उन्होंने कहा कि यूपीए सरकार टू के कार्यकाल में घाटमपुर में पॉवर प्लांट की नींव रखी गई थी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व केन्द्रीय कोयला मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल ने 11 जून 2012 को इस परियोजना का शिलान्यास किया था। लेकिन चार साल से अधिक समय हो जाने के बाद परियोजना धरातल पर नहीं उतर सकी। जिसके लिए यूपीए सरकार जिम्मेदार है। कहा कि केवल चुनावी हथकंडे के लिए परियोजना का शिलान्यास किया गया था। 2014 में राजग की सरकार आने के बाद के बाद परियोजना का नए सिरे से खाका खीचा गया और 2016 तक इसकी पहली ईकाई चालू कर दी जाएगी। मंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बिजली पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध नहीं है अगर प्रदेश सरकार रिक्वेस्ट करती है तो हम शत प्रतिशत बिजली देने को तैयार हैं। बताते चलें कि घाटमपुर पॉवर प्लांट की प्रस्तावित क्षमता 1980 मेगावाट है। जिसका नियमतः 25 प्रतिशत हिस्सा केन्द्र सरकार को देना होता है। मंत्री ने भूमि पूजन, दीप प्रज्जवलित व बटन दबाकर पॉवर प्लांट को हरी झण्डी दी। इस अवसर पर सांसद डा. मुरली मनोहर जोशी, देवेन्द्र सिंह भोले, विधायक सतीश महाना, जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र मैथानी आदि मौजूद रहें।
पहले मुआवजा फिर अधिग्रहण
सांसद डा. मुरली मनोहर जोशी ने कहा कि इस परियोजना के लिए लगभग नौ गांवों के किसानों की 828 हेक्टेयर जमीन ली गई है। लहुरीमऊ गांव के किसानों को छोड़कर सभी का मुआवजा अधिग्रहण करने के पहले दे दिया गया है। इसके पूर्ववर्ती सरकार ने चुनावी हथकंडे के चलते केवल शिलान्यास किया था, इस पर कोई आधिकारिक काम नहीं किया गया है।

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>