इटावा की लेडी सिंघम ने कर रखा है नाक में दम
By dsp On 23 Jun, 2015 At 12:23 PM | Categorized As भारत | With 0 Comments

इटावा
 एसएसपी मंजला सैनीबिहार के तेजतर्रार पुलिस ऑफिसर शिवदीप लांडे और असम की आईपीएस ऑफिसर संयुक्ता पाराशर के बाद ऐसी ही फितरत वाली एक और पुलिस अधिकारी का नाम सामने आया है। यह नाम है एसएसपी मंजला सैनी का। उत्तर प्रदेश की सत्तारूढ़ सरकार के मुखिया के गढ़ इटावा में पोस्टेड मंजला के तीखे तेवर इन दिनों इटावा के दबंगों पर भारी पड़ रहे हैं।

इटावा की सड़कों पर बदमाशों और गलत काम करने वालों को सबक सिखाने के लिए मंजला सैनी ने खुद कमान संभाली है। वह पुलिस बल के साथ खुद सड़क पर निकलती हैं और चीजें सही करने की कोशिश करती हैं।

मंजला खुद गाड़ियों को रुकवा कर उनके शीशों पर लगी काली रील निकलवाती हैं और अगर गाड़ी पर किसी पार्टी या नेता का झंडा लगा हुआ है, तो उसे भी निकलवा देती हैं। यहां तक कि अगर गाड़ी पर एसपी का झंडा है या फिर गाड़ी के मालिक का नेताओं के साथ किसी भी तरह का संबंध है, तो भी मंजला किसी तरह की नरमी नहीं बरतती हैं।

गलत कायदों से गाड़ी चलाने वालों पर ऐक्शन लेने के साथ ही मंजला अवैध शराब के अड्डों पर भी खुद ही दबिश देती हैं और ऐसे अड्डों को बंद करवाती हैं। सुपर कॉप मंजला कहती हैं, ‘आजकल चेन स्नेचिंग और महिलाओं के साथ छेड़छाड़ की घटनाएं शाम के समय ज्यादा होती हैं, जब लड़के बाइक लेकर निकलते हैं। ऐसे में मैंने रोजाना शहर के महत्वपूर्ण चौराहों पर शाम 5 से 7 तक चेकिंग करने और पुलिस तैनात करने के लिए कहा है।’

2005 बैच आईपीएस ऑफिसर मंजला का यह रवैया नया नहीं है। इससे पहले भी वो जहां-जहां रहीं, उनके तेवर ऐसे ही रहे। इससे पहले उन्होंने 2008 में एक किडनी रैकेट का भंडाफोड़ किया था। गोल्ड मेडलिस्ट रहीं मंजला का इससे पहले कई जगहों से ट्रांसफर हो चुका है और अब वह इटावा में बदमाशों को पुलिस की ताकत से रू-ब-रू करवा रही हैं।

उत्तर प्रदेश में अपराध का बढ़ता ग्राफ हर किसी के लिए चिंता का विषय है। ऐसे में बदमाशों, पुलिस और राजनेताओं की मिली-भगत वाले माहौल में मंजला जैसे पुलिस अफसरों का इस तरह आगे निकल कर आना सुखद है। खुद इटावा की जनता मंजला के इन तेवरों से खुश है और इसी तरह काम करते रहने की अपील कर रही है।

 

Source: Nabh Bharat Times

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>