1500 को लगाया 100 करोड़ का चूना, इंग्लैंड से MBA कर चुका है ठगों का सरगना
By dsp On 22 Jun, 2015 At 06:25 PM | Categorized As भारत | With 0 Comments

1500 को लगाया 100 करोड़ का चूना, इंग्लैंड से MBA कर चुका है ठगों का सरगना

ग्वालियर (मध्य प्रदेश). क्राइम ब्रांच ने 1500 से लोगों से करीब 100 करोड़ की ठगी करने वाले दिल्ली के हाई प्रोफाइल ठगों की गैंग का भंडाफोड़ किया है। गिरोह के 20 सदस्यों को पुलिस ने दिल्ली से गिरफ्तार किया। गैंग में 7 महिलाएं भी हैं। रविवार को इनकी गिरफ्तारी के बाद सोमवार को इन्हें ग्वालियर लाया गया। गिरोह बीमा पॉलिसी से लेकर बोनस, लोन और घरों में मोबाइल कंपनियों के टावर लगाने का झांसा देकर लोगों से धन ऐंठता था। इस गिरोह के सरगना ने इंग्लैंड से एमबीए किया है और वह वहीं रहता है।
कैसे करते थे ठगी?
आरोपियों ने इनफिनिटी इनवेस्टमेंट सॉल्यूशन प्राइवेट लिमिटेड, इनफिनिटी लाइफ ट्रिप प्राइवेट लिमिटेड और फैमली ट्रिप-टूर पैकेजेस लिमिटेड जैसी कंपनियां बनाई। ठगों का यह गिरोह ऐसे लोगों को फोन करते थे, जिनकी एलआईसी की पॉलिसी किश्त जमा नहीं करने पर बंद हो जाती थी। इन कंपनियों के कॉल सेंटर से संबंधित व्यक्ति के पास फोन आता था कि वित्त मंत्रालय ने निर्णय लिया है कि जिन लोगों की पॉलिसी बंद हो गई है, उनको फिर से शुरू किया जा रहा है और अब बोनस भी दिया जाएगा। ऐसे लोग रकम मिलने के चक्कर में लालच में आकर ठगी का शिकार हो जाते थे। ये लोग अपने शिकार बने व्यक्ति से लाखों रुपए चेक के द्वारा एकाउंट में मंगा लेते थे।
कैसे हुआ खुलासा?
क्राइम ब्रांच की प्रभारी एडिशनल एसपी प्रतिभा मैथ्यू ने बताया कि उनके पास इसी साल अप्रैल में ग्वालियर के एक रेलवे कर्मचारी ने शिकायत की थी। कर्मचारी ने बताया कि दिल्ली की कंपनी फैमली ट्रिप-टूर पैकेजेस लिमिटेड ने उनसे संपर्क किया। कंपनी ने एलआईसी का बोनस दिलाने के नाम पर 17 लाख रुपए की ठगी की। इस शिकायत के बाद क्राइम ब्रांच ने जांच शुरू की और अब जाकर इसका खुलासा हुआ।
कंपनी का मालिक पत्नी के साथ मिलकर करता था ठगी
इस कंपनी का मालिक आकाश बिड़ला है और ठगी करने में उसकी पत्नी उर्वशी मेहरा व दोस्त रिचा भटनागर भी शामिल थे। हालांकि, इस पूरे गोरखधंधे का मास्टरमाइंड सुमित रंजन है। सुमित ने इंग्लैंड की यूनिवर्सिटी से एमबीए कर रखा है और वहीं रहता है।
वेबसाइट से लेकर कस्टमर केयर सेंटर तक
करोड़ों की ठगी करने वालों ने अपनी कंपनियों की वेबसाइट से लेकर कस्टमर केयर सेंटर तक बना रखा था। यदि कोई क्लाइंट कस्टमर केयर सेंटर में शिकायत करता तो उसे एक-दो महीने टाला जाता था औऱ फिर इसका फोन नंबर बदल दिया जाता। इससे क्लाइंट परेशान हो कर पीछा छोड़ देता था। कई लोगों ने तो शिकायत तक दर्ज नहीं कराई थी।
कम से कम 5 लाख ठगे
क्राइम ब्रांच के मुताबिक इन्होंने प्रत्येक व्यक्ति से कम से कम 5 लाख रुपए और अधिकतम 15 से 20 लाख रुपए तक ठगे हैं। सबसे ज्यादा ठगी पंजाब के अप्रवासी भारतीय लोगों से इस कंपनी ने की है। इन ठगों का मानना है कि एनआरआई ज्यादा शिकायत नहीं करते।
ये हुए गिरफ्तार
आकाश बिड़ला, उर्वशी मेहरा, रिचा भटनागर, सुमित रंजन, रहमान, तरुण शर्मा, मनीष झा, राकेश कुमार, वीरेन्द्र वर्मा, साजन, राजवीर सिंह , गौरव पंजाबी, पारस सखूजा के अलावा माधुरी रोड़े, विनीता रावत, सरबजीत कौर, रितु सैनी, स्वाति व तलविंदर कौर को दिल्ली से क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है।
Source : Dainik Bhaskar

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>