चीनी मार्केट में भारी गिरावट, भारत के लिए अच्छे दिन के संकेत?
By dsp On 22 Jun, 2015 At 09:37 AM | Categorized As व्यापार | With 0 Comments

चीनी मार्केट में भारी गिरावट, भारत के लिए अच्छे दिन के संकेत?2008 के बाद शुक्रवार को चीनी मार्केट में आई भारी गिरावट ने दुनिया भर के विश्लेषकों को आश्चर्यचकित कर दिया है। इंडेक्स अंतिम पांच व्यापारिक सत्रों में 13 फीसदी से अधिक गिरा है। जिस दौरान चीन के मार्केट में भारी गिरावट आई, उसी दौरान भारती इक्विटी मार्केट में 3 फीसदी की बढ़त दिखी। इससे अब यह सवाल उठने लगे हैं कि क्या चीन में गिरावट भारत के लिए अच्छे दिन के संकेत हैं।

बहुत से विश्लेषकों का विचार है कि यह मामला नहीं है और इनके बीच उचित मुकाबला नहीं किया जा सकता है क्योंकि इस तर्क को समर्थन करने के लिए पर्याप्त आंकड़ा नहीं है। ईटी नाउ को दिए इंटरव्यू में बीआईएल के हंस गोएत्ती ने बताया, चीन में गिरावट आवश्यक रूप से भारत के लिए अच्छी बात नहीं हैं। निवेशक भारत में जा रहे हैं क्योंकि इसकी लॉन्ग टर्म ग्रोथ स्टोरी है और चीन में इसलिए क्योंकि वहां क्षणिक व्यापार है।

शंघाई कम्पोजिट इंडेक्स शुक्रवार को 4,478.36 से नीचे 6.42 फीसदी पर य नी 306.99 पॉइंट्स के साथ बंद हुआ। पिछले साल में इंडेक्स दोगुने से ज्यादा बढ़ गया है जबिक छोटी शेंजेन मार्केट इसी अवधि में 160 फीसदी बढ़ी है।

दूसरी ओर एस ऐंड पी बीएसई सेंसेक्स 200.34 पॉइंट्स की बढ़त के साथ 27,346.00 पर बंद हुआ।19 जून को समाप्त हुए सप्ताह में यह करीब 3 फीसदी से ज्यादा बढ़ा।

बहुत से विश्लेषकों का कहना है कि चीन और भारत के मार्केट में बड़ा फर्क है। उन्होंने बताया कि भारतीय और चीन के मार्केट में कई मामलों को लेकर काफी असमानता है।

 

Source: Nav bharat Times

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>