योग ट्रेनर बन कर खुद को और दूसरों को रखें फिट

स्टूडेंट्स के बीच आज के जमाने में बहुत सारे ऐसे करियर ऑप्शन मौजूद हैं जिनमें वो अपनी मर्जी के हिसाब से काम कर सकते हैं. सेहत की दुनिया से जुड़ा हुआ ऐसा ही एक करियर योग की फील्ड में भी है.

लगातार महंगी होती दवाओं और इलाज के कारण लोग प्राचीन चिकित्सा पद्धति और योग की तरफ रुख करने लगे हैं. विदेशी नागरिक भी योग के फायदे को देखते हुए डिप्रेशन और कई तरह की बीमारियों का इलाज करवाने के लिए भारत आ रहे हैं. यह करियर न केवल कमाई के लिहाज से बल्कि खुद की फि‍टनेस और सेहत के लिए भी बेहतर है. वैसे तो योग सिखाने के लिए किसी डिग्री की जरूरत से ज्यादा खुद की नॉलेज ही काम आती है लेकिन, अपना योग सेंटर खोलने और प्रोफेशनल तरीके से इस फील्ड में आने के लिए डिग्री हासिल करना जरूरी है.

क्या है योग्यता?
योग ट्रेनर बनने के लिए आप 12वीं के बाद कई सर्टिफिकेट कोर्से कर सकते हैं. वहीं, योग साइंस में बीएससी, पीजी डिप्लोमा इन योग थेरेपी, फाउंडेशन कोर्स इन योग, एडवांस योग टीचर्स ट्रेनिंग के साथ कई पार्ट टाइम कोर्स भी कर सकते हैं.

जरूरी स्किल्स:
इस फील्ड में करियर बनाने के लिए आपको इसके लिए पूरी तरह से समर्पित होना होगा.
योग की अच्छी जानकारी होनी चाहिए वरना आपकी गलती दूसरी बीमारी को जन्म दे सकती है.
हमेशा खुद को फिट रखना जरूरी
धैर्य और सहनशीलता से काम करने का तरीका आना चाहिए.
योग चिकित्सा पद्धति की विशेष जानकारी

कितना कमा सकते हैं आप?
एक योग ट्रेनिंग सेंटर खोलकर आराम से कोई व्यक्ति 20-30 हजार रुपया महीना कमा सकता है. अभी ज्यादातर योग ट्रेनर 500-1000 रुपया फीस लेते हैं. वहीं, अगर ट्रेनर किसी के घर पर जाकर सिखाता है तो वहां की फीस और ज्यादा होती है. वहीं, किसी ट्रेनर के पास किसी खास बीमारी से जुड़ी हुई योग की जानकारी होती है तो वह महीने में करीब 50-60 हजार रुपये कमा सकता है. वहीं, कई ट्रेनर तो महीने में 1-2 लाख तक कमा लेते हैं. स्वतंत्र काम के अलावा किसी ट्रेनिंग सेंटर में नौकरी करके भी 10-20 हजार की सैलरी आसानी से पा सकते हैं.

स्टूडेंट्स के बीच आज के जमाने में बहुत सारे ऐसे करियर ऑप्शन मौजूद हैं जिनमें वो अपनी मर्जी के हिसाब से काम कर सकते हैं. सेहत की दुनिया से जुड़ा हुआ ऐसा ही एक करियर योग की फील्ड में भी है.लगातार महंगी होती दवाओं और इलाज के कारण लोग प्राचीन चिकित्सा पद्धति और योग की तरफ रुख करने लगे हैं. विदेशी नागरिक भी योग के फायदे को देखते हुए डिप्रेशन और कई तरह की बीमारियों का इलाज करवाने के लिए भारत आ रहे हैं. यह करियर न केवल कमाई के लिहाज से बल्कि खुद की फि‍टनेस और सेहत के लिए भी बेहतर है. वैसे तो योग सिखाने के लिए किसी डिग्री की जरूरत से ज्यादा खुद की नॉलेज ही काम आती है लेकिन, अपना योग सेंटर खोलने और प्रोफेशनल तरीके से इस फील्ड में आने के लिए डिग्री हासिल करना जरूरी है.क्या है योग्यता?
योग ट्रेनर बनने के लिए आप 12वीं के बाद कई सर्टिफिकेट कोर्से कर सकते हैं. वहीं, योग साइंस में बीएससी, पीजी डिप्लोमा इन योग थेरेपी, फाउंडेशन कोर्स इन योग, एडवांस योग टीचर्स ट्रेनिंग के साथ कई पार्ट टाइम कोर्स भी कर सकते हैं.

जरूरी स्किल्स:
इस फील्ड में करियर बनाने के लिए आपको इसके लिए पूरी तरह से समर्पित होना होगा.
योग की अच्छी जानकारी होनी चाहिए वरना आपकी गलती दूसरी बीमारी को जन्म दे सकती है.
हमेशा खुद को फिट रखना जरूरी
धैर्य और सहनशीलता से काम करने का तरीका आना चाहिए.
योग चिकित्सा पद्धति की विशेष जानकारी

कितना कमा सकते हैं आप?
एक योग ट्रेनिंग सेंटर खोलकर आराम से कोई व्यक्ति 20-30 हजार रुपया महीना कमा सकता है. अभी ज्यादातर योग ट्रेनर 500-1000 रुपया फीस लेते हैं. वहीं, अगर ट्रेनर किसी के घर पर जाकर सिखाता है तो वहां की फीस और ज्यादा होती है. वहीं, किसी ट्रेनर के पास किसी खास बीमारी से जुड़ी हुई योग की जानकारी होती है तो वह महीने में करीब 50-60 हजार रुपये कमा सकता है. वहीं, कई ट्रेनर तो महीने में 1-2 लाख तक कमा लेते हैं. स्वतंत्र काम के अलावा किसी ट्रेनिंग सेंटर में नौकरी करके भी 10-20 हजार की सैलरी आसानी से पा सकते हैं.

कहां से कर सकते हैं योग में कोर्सेज:
इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ योगिक साइंस एंड रिसर्च, भुवनेश्वर
मोरारजी देसाई नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ योग, नई दिल्ली
सेंट्रल काउंसिल फॉर रिसर्च इन योग एंड नैचुरोपैथी, नई दिल्ली
शिवानंदा योग वेदांत सेंटर्स एंड आश्रम्स
योग इंस्टीट्यूट, मुंबई
बिहार स्कूल ऑफ योग, मुंगेर

Source: aajtak

Leave a comment

XHTML: You can use these tags: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>